Home » इंडिया » Bank branch manager asked leave to murder his wife, send to president office
 

पत्नी की हत्या के लिए इस बैंक के ब्रांच मैनेजर ने मांगी 2 दी की छुट्टी, जानें क्या है पूरा मामला

कैच ब्यूरो | Updated on: 24 January 2019, 14:56 IST

नौकरी पेशा लोगो के लिए सबसे बड़ी मुश्किल अपने किसी निजी काम या जरुरत के लिए अपने कार्यालय से छुट्टी लेने के नाम पर आती है. कई बार तो ऐसी भी खबरें आई हैं कि छुट्टी न मिलने से परेशान होकर कर्मचारी आत्महत्या जैसा कदम भी उठा लेते हैं. लेकिन बक्सर में छुट्टी को लेकर एक अनोखा मामला सामने आया है. जहां पर एक बैंक के ब्रांच मैनेजर ने अपनी बीवी की हत्या करने के नाम पर बैंक से छुट्टी के लिए आवेदन भेजा.

इतना ही नहीं मैनेजर ने ये आवेदन बैंक के आला अफसरों के साथ मानवाधिकार आयोग और राष्ट्रपति को भी भेज दिया. इसकी जानकारी मिलते ही बैंक की ओर से मैनेजर को छुट्टी के लिए तुरंत मंजूरी दे दी गई.

दरअसल मामला दक्षिण बिहार ग्रामीण बैंक में कार्यरत बक्सर के एकल कर्मी ग्रामीण ब्रांच का है. यहां पर ब्रांच मैनेजर के पद पर कार्यरत मुन्ना प्रसाद की पत्नी किडनी रोग से ग्रसित है. अपनी पत्नी के इलाज के लिए उन्होंने कई बार बैंक से छुट्टी की अर्जी लगाई लेकिन उन्हें छुट्टी नहीं दी गई. इतना ही नहीं हद तो तब हुई जब बार बार छुट्टी के आवेदन से नाराज होकर अधिकारी ने इंसानियत भूलकर कहा कि उन्हें अब पत्नी के सिर्फ दाह संस्कार के लिए ही छुट्टी दी जा सकती है.

इस जवाब के बाद मैनेजर ने अवसाद में आकर इसी जवाब को आधार बनाते हुए अपनी पत्नी की हत्या और फिर उसके अंतिम संस्कार के लिए आवेदन पत्र लिखते हुए इसकी प्रति राष्ट्रपति, मुख्य मंत्री, राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग और प्रधानमंत्री को भेज दिया.

पत्र में व्यथित मुन्ना प्रसाद ने लिखा, ''मुझे अपनी पत्नी की हत्या कर उसका अंतिम संस्कार करने के लिए सिर्फ दो दिनों की छुट्टी दी जाए.'' इस पत्र के मिलने के बाद से ही बैंक अधिकारियों में खलबली मच गयी और उन्हें तुरंत छुट्टी दे दी गई. हालांकि इस इस संबंध में ग्रामीण बैंक के अधिकारियों का कहना है कि एकल शाखा होने की वजह से यहां किसी भी कर्मी को छुट्टी देने से पहले दूसरे कर्मचारी को वहां विकल्प में देना होता है, जिससे शाखा का काम प्रभावित नहीं हो.

First published: 24 January 2019, 14:57 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी