Home » इंडिया » Bank can’t deny to exchange damaged currency notes otherwise impose penalty
 

कटे-फटे नोट लेने से किया बैंक ने इनकार तो लगेगा इतने लाख रुपये का जुर्माना

कैच ब्यूरो | Updated on: 4 July 2019, 12:11 IST

नोटों के कटने या फटने के बाद दुकानदार आपसे ऐसे नोट नहीं लेते. यही नहीं कई बार तो बैंक भी ऐसे नोट लेने से इनकार कर देता है. इसी को देखते हुए भारतीय रिजर्व बैंक ने सख्त कदम उठाया है. केंद्रीय बैंक ने ऐसे नोटों को ना लेने पर बैंक पर पांच लाख रुपये पेनाल्टी लगाने के निर्देश दिए हैं. हालांकि ऐसे तब होगा जब बैंक के खिलाफ इस तरह की पांच शिकायतें दर्ज होंगी.

रिजर्व बैंक के चीफ जनरल मैनेजर मानस रंजन महान्ति ने सिक्कों और कटे-फटे नोटों को लेकर बैंकों को निर्देश जारी किए हैं. आरबीआई ने स्पष्ट कहा है कि बैंक ग्राहकों की सेवाओं में किसी तरह की लापरवाही न बरतें. ये इस बात का संकेत है कि बैंक अपनी जिम्मेदारी को ईमानदारी से पूरा नहीं कर रहे हैं.

रिजर्व बैंक ने कहा है कि कोई भी बैंक काउंटरों पर लाए गए छोटे मूल्य के नोट या सिक्के को लेने से इनकार नहीं कर सकता. केंद्रीय बैंक ने कहा है कि नोटों का मतलब 50 रुपये या इससे छोटे नोट से है. ये जिम्मेदारी बैंक के क्षेत्रीय मुख्यालय की होगी कि उनकी सभी शाखाएं नोट और सिक्कों को लेकर ग्राहकों को पूरी सेवा दे रही हैंरिजर्व बैंक ने इसी के साथ ये भी कहा है कि कोई भी बैंक शाखा किसी दूसरी शाखा या बैंक ग्राहक को केवल इस आधार पर वापस नहीं कर सकती है कि वह उसका ग्राहक नहीं है.

साथ ही सभी बैंक अपने ग्राहकों को उन सेवाओं के बारे में जानकारी देने के प्रतिबंध होंगे जो सुविधाएं उस बैंक की शाखा में दी जा रही हैं. साथ ही उसके शुल्क के बारे में ग्राहकों को बताना होगा. इस बात की जानकारी का प्रचार शाखा के अंदर देनी होगी. इसके अलावा बैंकों को बेहद गंदे या दो टुकड़ों को जोड़कर बनाए गए नोट काउंटर पर ही बदलने होंगे. यही नहीं जिन नोटों का हिस्सा गायब हो गया है या दो से ज्यादा टुकड़ों का है, ऐसे नोटों को भी बैंक लेने से इनकार नहीं कर सकते. हालांकि उनका रिकॉर्ड रखना अनिवार्य होगा.

दिल्ली-कानपुर के बीच आज वंदे भारत एक्सप्रेस का ट्रायल, 4 घंटे में पूरा होगा सफर

First published: 4 July 2019, 12:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी