Home » इंडिया » Be alert to use these chinese digital applications, it access data from Indian users
 

UC Browser और TikTok समेत इन चीनी एप्स से हो जाएं सावधान, विदेश जा रही आपकी निजी जानकारी

कैच ब्यूरो | Updated on: 22 January 2019, 15:10 IST

अगर आप अपने स्मार्टफोन में TikTok, UC Browser और ShareIt जैसे चाइनीज ऐप्स इस्तेमाल करते हैं तो सावधान हो जाइए. एक रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि इन चाइनीज एप्लीकेशंस द्वारा भारतीय उपभोक्ताओं की वो जानकारियां भी मांगी जा रही हैं, जिनकी एप्लीकेशंस को कोई जरुरत नहीं होती.

रिपोर्ट के अनुसार, भारतीय उपभोक्ताओं का कीमती डाटा चाइनीज डिजिटल एप्लीकेशंस द्वारा कई विदेशी एजेंसियों को ट्रांसफर किया जा रहा है. न्यूज वेबसाइट इकोनोमिक टाइम्स की एक रिपोर्ट के अनुसार, पुणे की एक इंफोर्मेशन सिक्योरिटी फर्म Arrka Consulting ने अपनी एक स्टडी में यह पता लगाया है कि चीन की डिजिटल एप्लीकेशंस भारतीय उपभोक्ताओं से जरूरत से ज्यादा उनकी निजी जानकारियां मांग रहा है.

पढ़ें- BJP ने MP, राजस्थान और छत्तीसगढ़ चुनाव में की थी EVM हैक करने की कोशिश- हैकर का दावा

स्टडी के अनुसार, इन एप्लीकेशंस में Helo, Shareit, TikTok, UC Browser, Vigo Video, Beauty Plus, Club factory Everything, News-Dog, UC news और VMate हैं. ये सारे एप्स भारतीय उपभोक्ताओं से उनके कैमरे और माइक्रोफोन्स तक का एक्सेस मांगती हैं. यह किसी भी उपभोक्ता की डाटा सुरक्षा के नजरिए काफी संवेदनशील मामला है.

Arrka Consulting के को-फाउंडर संदीप राव के अनुसार, चीन की करीब 10 और दुनिया भर की करीब टॉप 50 डिजिटल एप्लीकेशंस उपभोक्ताओं से 45% ज्यादा जानकारी मांग रही हैं. औसत तौर पर चाइनीज एप्लीकेशंस ये डाटा 7 विदेशी एजेंसियों को ट्रांसफर कर रही हैं. इसमें 69% डाटा अमेरिका भेजा जा रहा है.

पढ़ें- कांग्रेस के दिग्गज नेता बोले- राहुल गांधी PM बनने लायक नहीं, कांग्रेस 100 सीटें भी नहीं जीतेगी

वहीं टिक-टॉक अपना डाटा चाइना टेलीकॉम को भेज रही है. वीगो वीडियो, टैनसेंट को, ब्यूटी प्ल्स अपना डाटा Meitu, वहीं यूसी ब्राऊजर अपना डाटा अपनी मदर कंपनी अलीबाबा को भेज रही है. 

First published: 22 January 2019, 15:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी