Home » इंडिया » bengal polls: 2 phase voting continues for 56 seats
 

पश्चिम बंगाल: दूसरे चरण का मतदान जारी, हिंसक झड़प मेंं 8 घायल

कैच ब्यूरो | Updated on: 17 April 2016, 14:35 IST

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण में रविवार सुबह से कड़ी सुरक्षा के बीच 56 सीटों पर मतदान चल रहा है.

इस बीच खबर आ रही है कि बीरभूम जिले के दमरूत गांव में भाजपा और तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं के बीच हुए संघर्ष में आठ लोग घायल हुए हैं.

इस मामले में पुलिस ने कहना है कि दोनों पक्षों के पार्टी कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया गया है. घटना के बाद बीजेपी ने आरोप लगाया है कि सत्ता पक्ष के लोगों के द्वारा मतदान को प्रभावित करने के लिए हमला किया गया. जिसमें उसके कई समर्थक घायल हो गए हैं.

जिले के नानूर विधानसभा क्षेत्र के सियान गांव और दुबराजपुर विधानसभा के कनकरतला गांव में अब भी तनाव बना हुआ है. वहीं फॉरवर्ड ब्लॉक ने दावा किया कि उसके पोलिंग एजेंटों को तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं के द्वारा लगातार धमकी दी जा रही है.

रविवार के चुनाव में उत्तर बंगाल के छह जिलों, अलीपुरद्वार, जलपाईगुड़ी, दार्जिलिंग, उत्तर दिनाजपुर, दक्षिण दिनाजपुर और माल्दा औऱ दक्षिण बंगाल की बीरभूम सीट पर कुल 383 प्रत्याशियों के राजनीतिक भाग्य का फैसला करने के लिए 1.2 करोड़ से अधिक मतदाता अपने मताधिकार का उपयोग करेंगे.

दूसरे चरण के मतदान में 33 महिला उम्मीदवार भी चुनाव मैदान में अपनी किस्मत आजमा रही हैं.  चुनाव आयोग ने बीरभूमि जिले की सात विधानसभा सीटों दुबराजपुर, सूरी, नलहाटी, रामपुरहाट, सैन्थिया, हंसन और मुराराई को नक्सल प्रभावित घोषित किया है.

सुरक्षा के लिहाज से इन सीटों पर मतदान का समय सुबह 7 बजे से शाम 4 बजे तक रखा गया है. इस मामले में चुनाव आयोग के अधिकारियों ने बताया कि इन इलाकों में बहुस्तरीय सुरक्षा के इंतजाम किए गए हैं. इनके अलावा अन्य विधानसभा सीटों पर मतदान शाम 6 बजे तक चलेगा.

वहीं, चुनाव आयोग ने तृणमूल कांग्रेस की अध्यक्ष और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को चुनावी सभा में की गई उनकी कुछ टिप्पणियों के कारण आचार संहिता के उल्लंघन का नोटिस जारी किया है. इस पर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने चुनाव आयोग की आलोचना की है.

दूसरी ओर, आयोग ने तृणमूल कांग्रेस के एक अन्य नेता और बीरभूम जिले की तृणमूल अध्यक्ष अनुब्रत मंडल को भी आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन करने पर कड़ी फटकार लगाई थी, लेकिन इसका असर न होते देख आयोग ने केंद्रीय पुलिस बल को उन पर 24 घंटे नजर रखने का आदेश दिया है.

bangal-election

दूसरे चरण के मतदान में सिलीगुड़ी विधानसभा सीट पर हाई प्रोफाइल मुकाबला है, जहां से सिलीगुड़ी के पूर्व महापौर और माकपा के पूर्व मंत्री अशोक भट्टाचार्य, पूर्व भारतीय फुटबॉल कप्तान और तृणमूल प्रत्याशी बाईचुंग भूटिया से टक्कर ले रहे हैं.

इनके अलावा इस चरण में जनता तृणमूल के मंत्रियों के भाग्य का फैसला भी करेगी. इनमें गौतम देव, कृष्णेन्दु नारायण चौधरी और सावित्री मित्रा प्रमुख हैं. वहीं, लोकप्रिय बांग्ला बैंड भूमि के गायक सौमित्र राय, अभिनेता जॉय बनर्जी और अभिनेत्री लॉकेट चटर्जी के साथ-साथ गायक सुमन बनर्जी भी राजनीति के अखाड़े में अपनी किस्मत आजमा रहे हैं.

इस चरण के मतदान के लिए आयोग ने 13,600 से अधिक मतदान केंद्र बनाए हैं, जिनमें से 2909 को आयोग द्वारा अतिसंवेदनशील घोषित किया गया है. इन केंद्रों पर स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव कराने के लिए विशेष सतर्कता बरती जा रही है.

इनमें माल्दा और उत्तर दिनाजपुर जिलों में अतिसंवेदनशील मतदान केंद्रों की संख्या सबसे ज्यादा है.आयोग ने इस चरण में 3800 से अधिक असामाजिक तत्वों की पहचान की है, जिनके बारे में इन सीटों के मतदाताओं का कहना है कि उन्हें धमकी दी गई या डराने का प्रयास किया गया है.

आयोग के अधिकारियों ने इस मामले में सख्त कदम उठाए हैं. मतदान के लिए 15,962 ईवीएम और 1968 वीवीपीएटी की व्यवस्था की गई है.

सभी मतदान परिसरों की निगरानी केंद्रीय सुरक्षा बल कर रहे हैं और राज्य पुलिस को उनका सहयोगी बनाया गया है. राज्य पुलिस को केवल चुनाव अधिकारियों के निर्देश पर ही मतदान केंद्रों के भीतर जाने दिया जाएगा.

सुरक्षा की बाहरी पंक्ति में त्वरित प्रतिक्रिया दल, उड़न दस्ते, सेक्टर बल और ‘मोबाइल हाई रेडियो फ्लाइंग स्क्वैड’ शामिल हैं. चुनाव आयोग ने दूसरे चरण के लिए 700 निगरानी अधिकारी तैनात किए हैं.

First published: 17 April 2016, 14:35 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी