Home » इंडिया » bhagalpur communal tenssion: arrest warant against bjp leader arjit shashwat choubey, ashwini kumar choubey
 

केंद्रीय मंत्री केे बेटे के खिलाफ साम्प्रदायिक तनाव फैलाने का आरोप, गिरफ्तारी वारंट जारी

कैच ब्यूरो | Updated on: 25 March 2018, 14:49 IST

बीजेपी, आरएसएस और बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने पिछले शनिवार (17 मार्च) को बिहार के भागलपुर में एक जुलूस निकाला था. इस जुलूस के बाद इलाके में सांप्रदायिक तनाव फैल गया था. उस जुलूस को निकालने में केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे के बेेटे अर्जित शाश्वत का नाम भी शामिल था. इसके बाद उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई थी. दर्ज हुई दो एफआईआर में एक में बिना इजाजत के जुलूस निकालने और दूसरी में 500 लोगों पर दंगा भड़काने का आरोप था.

अब खबर आ रही है कि इस मामले में अजित शाश्वत चौबे और उनके साथियों की गिरफ्तारी हो सकती है. सीजेएम कोर्ट ने अर्जित चौबे समेत नौ लोगों के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी कर दिया है. थाना नाथनगर के इंस्पेक्टर मो. जनीफुद्दीन ने गिरफ्तारी वारंट जारी करने की अर्जी कोर्ट में दी थी.

इससे पहले कोर्ट ने दो बार अधूरी बताकर पुलिस की अर्जी लौटा दी थी. अर्जित के अलावा जिनके खिलाफ वारंट जारी हुए हैं उनमें देव कुमार पांडे, अनूप लाल साह, प्रणब साह, अभय घोष सोनू, प्रमोद वर्मा, निरंजन सिंह, संजय भट्ट और सुरेंद्र पाठक शामिल हैं.

ये सभी नाथनगर थाना की एफआईआर संख्या 176 /18 के नामजद आरोपी हैं. जुलूस निकालने के बाद हुए साम्प्रदायिक तनाव के मद्देनजर पुलिस ने 17 मार्च को प्राथमिकी दर्ज की थी. एफआईआर नाथनगर थाना के सब इंस्पेक्टर हरिकिशोर चौधरी ने लिखवाई थी. जुलूस में डीजे बजाने वाले संचालक बबलू मंडल को पुलिस पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है.

मामले का सुपरविजन खुद भागलपुर के एसएसपी मनोज कुमार कर रहे हैं. उनका कहना है कि दर्ज नामजद आरोपियों के खिलाफ पर्याप्त सबूत हैं. रविवार (25 मार्च) को रामनवमी की वजह से ज़िले के 386 स्थानों पर मजिस्ट्रेट के साथ पुलिस बल तैनात किया गया है. 24 घंटे कंट्रोल रूम खुला रखा गया है.

First published: 25 March 2018, 14:49 IST
 
अगली कहानी