Home » इंडिया » Bhagalpur Riot: Ashwini Kumar Choubey son Arijit Shaswat says fir against me is a garbage
 

अश्विनी चौबे के बेटे की नीतीश को चुनौती, कहा- मेरे खिलाफ FIR है रद्दी का टुकड़ा, कूड़े में फेंकता हूं

कैच ब्यूरो | Updated on: 22 March 2018, 9:19 IST

भागलपुर में हुए दंगे पर बिहार की सियासत पूरी तरह गर्म है. इस दंगे को भड़काने में बीजेपी, आरएसएस और बजरंग दल की रैली को कारण बताया जा रहा है. रैली की अगुवाई बीजेपी नेता और केंद्रीय राज्य मंत्री अश्विनी कुमार चौबे के बेटे अरिजित शाश्वत कर रहे थे. जिसकी वजह से उन पर एफआईआर दर्ज हुई थी.

अब इस मामले को लेकर शाश्वत ने बिहार के सीएम नीतीश कुमार पर हमला बोला है. शाश्वत ने बिहार के सीएम को चुनौती देते हुए कहा कि वह कोई अपराधी नहीं हैं और उन्होंने कोई अपराध नहीं किया है जिसकी वजह से उन्हें भागना पड़े.

 

शाश्वत ने अपने ऊपर हुए मुकदमे को लेकर पटना में एक प्रेस कांफ्रेंस की. इस दौरान उन्होंने कहा कि उनके खिलाफ किए गए एफआईआर को वह रद्दी का टुकड़ा भर मानते हैं. उन्होंने कहा कि मैं इस एफआईआर को कूड़े में फेंकता हूं. गौरतलब है कि मामले में भागलपुर पुलिस शाश्वत की तलाश कर रही है.

पढ़ें- नीतीश का BJP पर निशाना- समाज को बांटने वालों को नहीं करूंगा बर्दाश्त

हालांकि इस दौरान उन्होंने ये कबूल किया कि भागलपुर में जो शोभा यात्रा उन्होंने निकाली थी उसे पुलिस की अनुमति नहीं थी. लेकिन इस बात पर उन्होंने पुलिस से पूछा कि आख़िर तब भी उनके शोभा यात्रा में पुलिस तैनाती क्यों की गई थी. प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित करते हुए शाश्वत ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के कड़े रूख का विरोध किया.

उन्होंने कहा कि अगर भारत माता की जय कहना अपराध हैं तो मैं अपराधी हूं. यही नहीं उन्होंने भागलपुर के पुलिस अधिकारियों हटाने की भी मांग की. इस मुद्दे पर उन्हें केवल उनके पिता केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे का समर्थन मिल रहा हैं. वहीं विपक्षी नेताओं ने आरोप लगाया कि बीजेपी नेता ने साजिशन उन इलाकों को रैली के लिए चुना जहां मुस्लिम बहुतायत में हैं. जिसकी वजह से राज्य के हालात बिगड़े.

First published: 22 March 2018, 8:38 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी