Home » इंडिया » Bhaiyyaji Joshi: 'Ram temple is set up, construction work will start after court decision'
 

'राम मंदिर का बनना तय है, न्यायालय के निर्णय के बाद निर्माण का कार्य शुरू होगा'

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 March 2018, 15:10 IST

लगातार चौथी बार राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (RSS) के राष्ट्रीय सचिव चुने गए भैया जी जोशी ने राममंदिर को लेकर एक बड़ा बयान दिया है. जोशी  का कहना है कि ''राम मंदिर का बनना तय है और वहां दूसरा भी कुछ नहीं बनेगा यह भी तय है. न्यायालय के निर्णय के बाद राममंदिर निर्माण का का कार्य शुरू होगा''. उन्होंने कहा राममंदिर पर आम सहमति बनना आसान नहीं है, जो प्रयास हो रहा है हम उसका स्वागत करते हैं.

भैया जी जोशी ने कहा, ''हम  इसको स्वीकार नहीं  करते. भारत में सम्प्रदाय अलग हो सकते हैं  जिनको हमने  स्वीकारकिया. परन्तु भारत में निर्माण हुई सभी  पंथ /सम्प्रदाय की मूलभूत बातें समान हैं जिनके आधार पर ऊपर के भेदभाव को दूर करना चाहिए.

भैय्याजी जोशी साल 2009 से लगातार संघ के सरकार्यवाह हैं. आरएसएस की अखिल भारतीय प्रतिनिधि सभा की नागपुर में जारी तीन दिवसीय बैठक में शनिवार को सरकार्यवाह पद के लिए चुनाव हुआ. इस चुनाव में एक बार फिर उनके नाम पर मुहर लगा दी गई.

आरएसएस में सरकार्यवाह को संघसरचालक के बाद नंबर दो माना जाता है. इस समय संगठन में संघसरचालक मोहन भागवत है. इस पद पर कोई चुनाव नहीं होता है. संघ प्रमुख अपने कार्यकाल के दौरान किसी भी स्वंयसेवक को अगला संघसरचालक चुन लेता है. जो इस पद पर आजीवन रह सकता है.

गौरतलब है कि आरएसएस की अखिल भारतीय प्रतिनिधि सभा हर तीन साल में आयोजित होती है. इसी मीटिंग में राष्ट्रीय महासचिव का चुनाव होता है. यह संघ के अहम फैसले लेने वाली संस्था है. सुरेश भैय्याजी जोशी का चौथा कार्यकाल मार्च 2021 तक होगा.

अखिल भारतीय प्रतिनिधि सभा की बैठक 9 मार्च को शुरू हुई है और बैठक ये 11 मार्च(रविवार) तक चलेगी. संघ के कई नेता चाहते थे कि भैय्याजी जोशी को तीन साल का एक कार्यकाल मिले. हालांकि जोशी स्वयं इसके पक्ष में नहीं थे. दरअसल इस सभा की मीटिंग से पहले सरकार्यवाह के पद के लिए सह सरकार्यवाह दत्तात्रेय होसबोले और कृष्ण गोपाल के नामों की भी चर्चा थी.

First published: 11 March 2018, 14:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी