Home » इंडिया » Bharat bandh: goverment filed review petition in Supreme Court
 

भारत बंद: दलित आंदोलन हुआ हिंसक, सरकार ने दायर की सुप्रीम कोर्ट में पुनर्विचार याचिका

कैच ब्यूरो | Updated on: 2 April 2018, 12:22 IST

अनुसूचित जाति-जनजाति ऐक्ट के तहत तत्काल गिरफ्तारी न होने के सुप्रीम कोर्ट के फैसले के खिलाफ आज कई दलित संगठनों ने एक राष्ट्रव्यापी हड़ताल बुलाई है. हड़ताल का देशभर में व्यापक असर  देखा जा रहा है.  इस बीच सरकार का कहना है कि उसने सोमवार को सुप्रीम कोर्ट में एक समीक्षा याचिका दायर कर दी है.

बंद के मद्देनजर पंजाब, यूपी और राजस्थान में तोड़फोड़ और हिंसा की खबरें भी आ रही है. जबकि सीबीएसई ने पंजाब में सोमवार के लिए निर्धारित 12वीं और 10वीं की परीक्षा को स्थगित कर दिया है. पंजाब सरकार ने रविवार शाम 5 बजे से लेकर सोमवार 11 बजे रात तक इंटरनेट सेवाओं को बंद करने का ऐलान किया है. राज्य में सार्वजनिक परिवहन सेवाएं भी अस्थायी रूप से निलंबित कर दी गई हैं. भारत बंद के कारण आज दिल्ली-देहरादून हाइवे पर भारी जाम लग गया. प्रदर्शनकारियों ने दिहाइ वे पर बस में आग लगा दी. 

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट किया कि  ''दलितों को भारतीय समाज के सबसे निचले पायदान पर रखना RSS/BJP के DNA में है. जो इस सोच को चुनौती देता है उसे वे हिंसा से दबाते हैं. हजारों दलित भाई-बहन आज सड़कों पर उतरकर मोदी सरकार से अपने अधिकारों की रक्षा की माँग कर रहे हैं। हम उनको सलाम करते हैं.

इस बीच केंद्रीय कानून मंत्री रविशकर प्रसाद का कहना है आज हमने सर्वोच्च न्यायालय द्वारा अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति अधिनियम के फैसले पर याचिका दायर की है. उन्होंने कहा हमने एक व्यापक समीक्षा याचिका दायर की है जिसे सरकार के वरिष्ठ वकीलों द्वारा अदालत में पेश किया जाएगा.

 

राजस्थान के बाड़मेर में हिंसक विरोध प्रदर्शन की खबर है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक करणी सेना और दलित संगठनों के बीच पथराव हो गया जिसमें 25 लोग घायल हो गए. राजस्थान के भारतपुर में बच्चे और महिलाएं सड़कों पर लाठी-डंडों के साथ प्रदर्शन करने के लिए उतरे, नाराज महिलाओं ने ट्रेन भी रोकी. उत्तर प्रदेश के आगरा में भी प्रदर्शनकारी सड़कों पर उतरे. 

प्रदर्शनकारियों पर गोलाबारी का भी आरोप है. जबकि मेरठ में हिंसक प्रदर्शन के दौरान कई गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया गया. हरियाणा के पलवल में महिलाओं में बंद में हिस्सा लिया और भारी संख्या में प्रदर्शन करती नजर आयी. बिहार में आरजेडी ने बंद का समर्थन किया है.

First published: 2 April 2018, 12:00 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी