Home » इंडिया » Bharat bandh: mixed effect of bandh in most states, read here how was the atmosphere in which state
 

Bharat bandh : अधिकतर राज्यों में रहा बंद का मिलाजुला असर, यहां पढ़िए कहां, कैसा रहा माहौल

कैच ब्यूरो | Updated on: 8 December 2020, 16:02 IST

Bharat Bandh : किसानों के देशभर में भारत बंद का मिलाजुला असर दिखा. पीटीआई के अनुसार उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में बंद का कोई खास असर नहीं दिखा, लेकिन प्रदेश के अन्य विभिन्न जिलों में बंद का कहीं कम, तो कहीं ज्यादा असर दिखाई दे रहा है. रिपोर्ट के अनुसार लखनऊ में समाजवादी पार्टी (सपा) के विधान परिषद सदस्य राजपाल कश्यप, आनंद भदौरिया, सुनील साजन और आशु मलिक भारत बंद के समर्थन में विधान भवन परिसर में स्थित चौधरी चरण सिंह की प्रतिमा के सामने बैठे. नोएडा में कारखाने, मॉल और बाजार खुले रहे. यहां पुलिस ने बंद के मद्देनजर सुरक्षा का पुख्ता इंतजाम किया है.

पुलिस ने कई राजनीतिक दलों के नेताओं तथा विभिन्न संगठनों से जुड़े लोगों को हिरासत में ले लिया है या उन्हें नजरबंद कर दिया है. भारत बंद को कांग्रेस, समाजवादी पार्टी (सपा), बहुजन समाज पार्टी (बसपा), वामदल, आम आदमी पार्टी (आप), शिवसेना, तृलमूल कांग्रेस समेत कई दलों ने समर्थन दिया है.


समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार बंद का गुजरात में विपक्षी कांग्रेस ने समर्थन किया है बंद के समर्थन में मंगलवार को प्रदर्शनकारियों ने कुछ जगहों पर राजमार्ग बाधित करने का प्रयास किया और मार्ग पर जलते हुए टायर रख दिए. हालांकि दोपहर तक राज्य में बंद का अधिक असर नहीं दिखा. राज्य में कुछ जगहों को छोड़कर सभी बाजार, दुकानें, सरकारी एवं निजी कार्यालयों समेत कारोबारी प्रतिष्ठान खुले रहे. राज्य के प्रमुख शहरों में जनजीवन पर बंद का असर नहीं दिखा और सड़कों पर बसों की आवाजाही सामान्य रही.

अहमदाबाद, राजकोट और सूरत समेत राज्य के प्रमुख शहरों में बीआरटीएस (बस रैपिड टांजिट सिस्टम) का कामकाज तय समय के अनुसार चला. राज्य में करीब 5,000 पेट्रोल पंप भी खुले रहे क्योंकि उनके संगठनों ने बंद को समर्थन नहीं दिया था. राजस्थान में भी बंद का मिलाजुला असर दिखा. अनाज मंडियां एवं प्रमुख बाजार बंद रहे, लेकिन कई जगह बाजारों में कुछ दुकानें सामान्य दिनों की तरह खुली रहीं.

राजस्थान के परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास अपने समर्थकों के साथ बंद के समर्थन में जयपुर के अनेक इलाकों में ट्रैक्टर एवं अन्य वाहनों पर घूमे. किसान महापंचायत के अध्यक्ष रामपाल जाट ने कहा, ‘‘गांवों एवं कस्बों में बंद का स्पष्ट असर है. राज्य में सभी मंडियां बंद हैं. बंद शांतिपूर्ण ही रहेगा.’’ राजस्थान की राजधानी जयपुर में कई जगहों पर सुबह दुकानें सामान्य दिनों की तरह खुलीं. बंद को शांतिपूर्ण बनाए रखने के लिए प्रशासन एवं पुलिस के अधिकारी हालात पर निगाह लगातार रखे हुए हैं.

बंद के बीच छत्तीसगढ़ में मंगलवार को राज्य के लगभग सभी बड़े शहरों में व्यापारिक संस्थान बंद रहे. पीटीआई के अनुसार छत्तीसगढ़ में सत्ताधारी दल कांग्रेस ने भारत बंद का समर्थन किया है. सत्ताधारी दल के नेता और कार्यकर्ता बंद को सफल बनाने के लिए सड़क पर निकले तथा लोगों से समर्थन का अनुरोध किया. छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के एक वरिष्ठ नेता ने बताया कि कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कार्यकर्ताओं के साथ रायपुर जिले के दोंदे खुर्द गांव का दौरा किया तथा लोगों से किसानों का समर्थन करने की अपील की. छत्तीसगढ़ किसान मजदूर महासंघ के संयोजक मंडल के सदस्य संकेत ठाकुर ने बताया कि राज्य के 36 संगठनों ने बंद को समर्थन दिया है.

Bharat Bandh: दिल्ली पुलिस ने CM अरविंद केजरीवाल को किया हाउस अरेस्ट- AAP का आरोप

राज्य में छत्तीसगढ़ चैंबर ऑफ कॉमर्स तथा उद्योगों ने बंद का समर्थन किया है. छत्तीसगढ़ चैंबर ऑफ कॉमर्स ने व्यापारिक प्रतिष्ठानों को शहरों में अपराह्न बाद दो बजे तक बंद रखने का फैसला किया है. राज्य में सार्वजनिक परिवहन और आटो रिक्शा चालकों ने भी बंद का समर्थन किया है. सार्वजनिक वाहनों के नहीं चलने के कारण लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है.

मुकेश अंबानी बोले- 30 करोड़ लोग अब भी 2जी में फंसे हैं, सरकार से कर डाली 5जी को लेकर ये बड़ी मांग

 

First published: 8 December 2020, 16:00 IST
 
अगली कहानी