Home » इंडिया » BHU Molestation Case: Chief proctor resigns, VC Girish Chandra Tripathi is on back foot
 

बीएचयू कांड: विवादित वीसी गिरीश चंद्र की मुश्किलें बढ़ीं, चीफ प्रॉक्टर का इस्तीफ़ा

कैच ब्यूरो | Updated on: 27 September 2017, 9:36 IST

बनारस हिंदू विश्वविद्यालय में तीखा हमला झेल रहे वाइस चांसलर गिरीश चंद्र त्रिपाठी की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं. बीएचयू के चीफ प्रॉक्टर ओंकारनाथ सिंह ने इस कांड की ज़िम्मेदारी लेते हुए इस्तीफ़ा दे दिया है. उनका इस्तीफ़ा मंज़ूर हो गया है या नहीं, अभी तक इसकी आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है. माना जा रहा है कि उनकी जगह एमके सिंह को चीफ प्रॉक्टर बनाया जा सकता है.

वाइस चांसलर गिरीश चंद्र त्रिपाठी अभी तक इस पूरे कांड का दोष प्रदर्शनकारियों और ज़िला प्रशासन पर मढ़ते रहे हैं. मगर अब विश्वविद्यालय प्रशासन के चीफ प्रॉक्टर के इस्तीफ़ा देने से यह स्पष्ट हो गया है कि कहीं ना कहीं गलती उनके स्तर पर भी हुई है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक वाइस चांसलर गिरीश चंद्र त्रिपाठी के सारे अधिकार ज़ब्त कर दिए गए हैं. वीसी गिरीश चंद्र 26 नवंबर को अपने पद से रिटायर हो रहे हैं.

इस पूरे कांड में सबसे ज़्यादा आरोप वाइस चांसलर झेल रहे हैं मगर वह बार-बार ज़िम्मेदारी दूसरों पर डाल रहे हैं. पत्रिका को दिए गए एक्सक्लूसिव इंटरव्यू में उन्होंने कहा है कि इस कांड के ज़िला प्रशासन की एक महिला अधिकारी ज़िम्मेदार हैं. मगर वाराणसी के कमिश्नर नितिन गोकर्ण ने मुख्य सचिव राजीव कुमार को जो रिपोर्ट सौंपी है, उसमें उन्होंने विश्वविद्यालय के प्रशासन को ही दोषी ठहराया है. वीसी गिरीश चंद्र इस बात को समझने को तैयार नहीं हैं.

First published: 27 September 2017, 9:36 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी