Home » इंडिया » bhupendra kainthola appointed as a ftii director
 

भारतीय सूचना सेवा के भूपेंद्र केंथोला बने एफटीआईआई के निदेशक

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 February 2017, 1:50 IST

भारतीय सूचना सेवा (आईआईएस) अधिकारी भूपेंद्र केंथोला को ‘फिल्म एंड टेलीविजन इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया’ (एफटीआईआई) पुणे का नया निदेशक बनाया गया है.

केंथोला ने प्रशांत पथराबे की जगह ली है, जो छात्रों की 139 दिनों की हड़ताल के दौरान अंतरिम निदेशक थे.

टीवी कलाकार गजेंद्र चौहान को संस्थान का अध्यक्ष नियुक्त किए जाने को लेकर पिछले साल छात्रों ने एफटीआईआई में लंबे समय तक प्रदर्शन किया था.

तीन साल का कार्यकाल


एफटीआईआई सोसाइटी में चौहान और चार अन्य सदस्यों की नियुक्ति का विरोध करते हुए छात्रों ने हड़ताल की थी. 1989 बैच के भारतीय सूचना सेवा के अधिकारी भूपेंद्र केंथोला का एफटीआईआई में कार्यकाल तीन साल का होगा.

एफटीआईआई सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के तहत एक स्वायत्त संस्था है. पदभार संभालने के बाद केंथोला ने कहा कि वो 56 साल पुराने संस्थान के गौरव को कायम रखेंगे.

केंथोला ने कहा, "फिल्म निर्माण और टेलीविजन क्षेत्र में सर्वोत्तम प्रतिभा को पोषित करने की एफटीआईआई की लंबी परंपरा रही है. मैं खुले दिमाग और साफ दिल से यहां आया हूं और आश्वस्त हूं कि मेरे सभी छात्र, संकाय सदस्य और कर्मचारी मेरी कोशिशों में पूरा सहयोग देंगे."

केस वापस लेने पर चुप्पी


गजेंद्र चौहान के मामले में प्रदर्शन को लेकर कुछ छात्रों पर चल रहे मामले को वापस लेने के मुद्दे पर केंथोला ने कहा कि इस विषय पर टिप्पणी करना जल्दबाजी होगी, क्योंकि मैं इस विषय से पूरी तरह से अवगत नहीं हूं.

यह मामला आंदोलन के दौरान पूर्व निदेशक पथराबे ने दर्ज कराया था. जो पिछले साल अगस्त में आंदोलन के दौरान कई घंटे तक पथराबे को उनके कार्यालय में बंधक बनाए जाने से जुड़ा है.

विश्व स्तर के इस शीर्ष संस्थान में अभिनय, फिल्म निर्माण, वीडियो संपादन, निर्देशन और फिल्म निर्माण से जुड़े पाठ्यक्रम की पढ़ाई होती है.

First published: 7 May 2016, 5:52 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी