Home » इंडिया » Bhupendra Singh Hooda Show Strength to Congress Leadership before Assembly Election
 

हरिणाया में कांग्रेस को बड़ा झटका, हुड्डा ने दिखाए बगावती तेवर, कहा- रास्ता भटक गई है पार्टी

कैच ब्यूरो | Updated on: 18 August 2019, 18:05 IST
(ani)

कांग्रेस पार्टी के लिए मानों कुछ भी अच्छा नहीं चल रहा है, पहले अनुच्छेद 370 पर पार्टी में खुले तौर नेताओं ने विरोध किया. वहीं अब हरियाणा विधानसभा चुनावों से पहले उसकी मुश्किले और बढ़ सकती है. क्योंकि पार्टी के दिग्गज नेता और पूर्व मुख्यमंत्री भुपेद्र सिंह हुड्डा ने पार्टी से अलग होने के साफ संकेत दे दिए है. हरियाणा के रोहतक में एक रैली ने दौरान हुड्डा ने कहा,'मैं आज खुद को अतीत से मुक्‍त करता हूं.' कयास लाए जा रहे है कि हुड्डा आने वाले दिनों में अपनी पार्टी बनाने वाले है.

हरियाणा के राेहतक में आयोजित महापरिवर्तन रैली में भुपेंद्र हुड्डा ने कहा,'मुझे नेताओं व रैली में मौजूद लोगों द्वारा कोई भी फैसला लेने का जो अधिकार दिया है उसके लिए मैं एक कमेटी का गठन करुंगा. कमेटी की सलाह पर इस बारे में कोई भी फैसला लूंगा.' इस रैली में कांग्रेस के दिग्गज नेता करण सिंह दलाल ने साफ कि अगर हरियाणा की कमान हुड्डा ने हाथों में नहीं दी गई तो पार्टी के नेताओं को अपनी अलग राह अपनानी चाहिए. इतना ही नहीं हरियाणा विधानसभा के पूर्व स्‍पीकर रघुबीर कादियान ने एक लाइन का प्रस्‍ताव रखा कि हुड्डा जो भी फैसला करेंगे.

 

भुपेंद्र हुड्डा ने आने वाले विधानसभा चुनावों को ध्यान में रखते हुए वोटरों को रिझाने के लिए एक बड़ दाव भी चला है. हुड्डा ने साफ किया कि अगर उनकी सरकार बनती है तो आंध्र प्रदेश की तरह ही कानून लाकर 75 फीसदी रोजगार हरियाणा वासियों के लिए आरक्षित की जाएंगी.

बता दें, हरियाणा विधानसभा चुनाव का कार्यकाल इसी साल समाप्त हो रहा है. ऐसे में सभी पार्टी चुनाव प्रचार में जुट गई है. वहीं विधानसभा से ऐन पहले हरियाणा में इस तरह से कांग्रेस पार्टी का टूटना, कांग्रेस की मुश्किले बढ़ा सकता है.

दिनदहाड़े डबल मर्डर से सहमा सहारनपुर, पत्रकार और उसके भाई की गोली मारकर हत्या

First published: 18 August 2019, 17:04 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी