Home » इंडिया » Bhutan PM Lotay Tshering morale boosting message for isro
 

भूटान के प्रधानमंत्री ने की भारतीय वैज्ञानिकों की तारीफ, बोले- इसरो की कड़ी मेहनत ऐतिहासिक

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 September 2019, 11:12 IST

इसरो के महत्वाकांक्षी मिशन चंद्रयान-2 के लैंडर विक्रम के चांद की सतह पर सॉफ्ट लैंडिंग से कुछ मिनट पहले पृथ्वी से संपर्क टूट गया. जिससे इसरो के वैज्ञानिक निराश हो गए, लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित तमाम नेता इसरो के वैज्ञानिकों को निराश ना होने की सलाह दे रहे हैं और उनकी इस सफलता को असाधारण बता रहे हैं.

पीएम मोदी ने इसरो के वैज्ञानिकों की तारीफ करते हुए कहा कि भारत को अपने वैज्ञानिकों पर गर्व है. मोदी ने इसरो के वैज्ञानिकों को हिम्मत से काम लेने को कहा. इसके अलावा अब विदेशी राजनेताओं की भी इसरो के इस मिशन पर प्रतिक्रियाएं आने लगी हैंभूटान के प्रधानमंत्री लोते शेरिंग ने कहा कि, हमें भारत और उनके वैज्ञानिकों पर गर्व है. उन्होंने एक ट्वीट कर लिखा, इसरो के वैज्ञानिकों ने कड़ी मेहनत ऐतिहासिक है. मोदी और उनकी टीम एक दिन जरूर कामयाब होगी.

इनके अलावा कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा कि, "इस तनावपूर्ण समय में प्रतीक्षा करते हुए पूरा राष्ट्र इसरो की पूरी टीम के साथ खड़ा है. आपकी मेहनत और प्रतिबद्धता ने हमारे राष्ट्र को गौरवान्वित किया है. जय हिन्द.” उन्होंने कहा कि, "चंद्रयान-2 मिशन पर उनके अविश्वसनीय काम के लिए इसरो टीम को बधाई. आपका जुनून और समर्पण हर भारतीय के लिए प्रेरणा स्त्रोत के समान है. आपका काम व्यर्थ नहीं है. इसने कई मिसालें कायम की हैं और महत्वाकांक्षी भारतीय अंतरिक्ष मिशनों की नींव रखी है.”

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि, "चंद्रयान-2 को लेकर भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन की अब तक की उपलब्धि पर प्रत्येक भारतीय को गर्व है. भारत इसरो के अपने प्रतिबद्ध और परीश्रम करने वाले वैज्ञानिकों के साथ खड़ा है. इसरो की भविष्य की योजनाओं के लिए मेरी शुभकामनाएं.”

 

वहीं वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि, "हम इसरो के साथ हैं. आपने देश का मान बढ़ाया है. आपने अंतरिक्ष में अपनी उपलब्धियों को महसूस कराने के लिए राष्ट्र, युवाओं और सबको एक साथ लाएं. हम जरूर कामयाब होंगे.”

विज्ञान और प्रोद्यौगिकी मंत्री हर्षवर्धन ने एक ट्वीट कर कहा, ‘‘प्रिय इसरो के वैज्ञानिक भारत को आप पर गर्व है. चंद्रयान-2 के लिए आपने अपना सर्वोत्तम दिया. आपके साहस की कोई तुलना नहीं है. मुझे अटल जी की कविता याद आ रही है- 'हार नहीं मानूंगा, रार नहीं ठानूंगा.’’हर्षवर्धन ने कहा कि हमें पूरा भरोसा है कि भविष्य में हमारे वैज्ञानिक इस मिशन को पूरा करेंगे.

विज्ञान और प्रोद्यौगिकी मंत्री हर्षवर्धन ने एक ट्वीट कर कहा, ‘‘प्रिय इसरो के वैज्ञानिक भारत को आप पर गर्व है. चंद्रयान-2 के लिए आपने अपना सर्वोत्तम दिया. आपके साहस की कोई तुलना नहीं है. मुझे अटल जी की कविता याद आ रही है- 'हार नहीं मानूंगा, रार नहीं ठानूंगा.’’हर्षवर्धन ने कहा कि हमें पूरा भरोसा है कि भविष्य में हमारे वैज्ञानिक इस मिशन को पूरा करेंगे.

First published: 7 September 2019, 11:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी