Home » इंडिया » Big Disclosure: Pulwama CRPF Attack happened due to lapse of intelligence agencies
 

बड़ा खुलासा: खुफिया एजेंसियों की चूक से हुआ था पुलवामा हमला, CRPF के 40 जवान हुए थे शहीद

कैच ब्यूरो | Updated on: 4 September 2019, 13:26 IST

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में 14 फरवरी को CRPF के काफिले पर आतंकी हमला हुआ था. इस हमले में 40 से ज्यादा जवान शहीद हो गए थे. इस हमले को लेकर एक बड़ा खुलासा हुआ है. यह हमला खुफिया एजेंसियों की विफलता थी. सीआरपीएफ की आंतरिक रिपोर्ट में ये बात सामने आई है.

रिपोर्ट गृह मंत्रालय के बयान के विपरीत है. गृह मंत्रालय ने कहा था कि पुलवामा आतंकी हमला खुफिया एजेंसियों की विफलता नहीं थी. वहीं अब जांच रिपोर्ट में बिल्कुल उलट बात सामने आई है. रिपोर्ट के अनुसार, आईईडी खतरे के संबंध में एक चेतावनी जारी हुई थी, लेकिन एजेंसियों को अंदेशा नहीं था कि कार से आत्मघाती हमला हो सकता है.

आंतरिक रिपोर्ट में CRPF काफिले की असामान्य लंबाई सहित कई खामियां बताई गई हैं. इस काफिले में 78 वाहन शामिल थे. काफिले में 2547 जवान शामिल थे. काफिला साथ जम्मू से श्रीनगर के लिए रवाना हुआ था. काफिले को दूर से ही पहचानना आसान था और सूचना भी आसानी से लीक हो गई.

रिपोर्ट में बताया गया कि काफिले की रवानगी के दौरान नागरिक वाहन को आने-जाने की इजाजत देना महंगा साबित हुआ. असामान्य रूप से यह काफिला काफी लंबा था. जबकि भारी बर्फबारी के कारण 4 फरवरी के बाद से कोई भी वाहन जम्मू श्रीनगर राजमार्ग पर नहीं चला था.

सीआरपीएफ की बस HR 49F 0637 पर शाम 3.30 बजे के करीब आत्मघाती हमला हुआ. बस काफिले में 5वें नंबर पर थी. हालांकि, हमले के दौरान मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) का पालन किया गया था. इसके तहत हर 4 गाड़ी के बीच लंबी दूरी होनी चाहिए. इसी वजह से इसका असर सिर्फ एक गाड़ी पर हुआ था.

जांच में सीआरपीएफ की बंकर वाहन से एक वीडियो मिला. इसमें दिखा कि आरओपी ड्यूटी के दौरान एएसआई राम लाल आत्मघाती हमलावर की गाड़ी को रोकने की कोशिश कर रहे थे. 15 पेज की रिपोर्ट सीआरपीएफ के डीजी को मई महीने में सौंपी गई थी. 

कश्मीर पर पाकिस्तानियों की बौखलाहट नहीं हो रही है कम, लंदन में भारतीय उच्चायोग पर फेंके अंडे और पत्थर

'भूमाफिया' आजम खान के समर्थन में आए मुलायम सिंह यादव, योगी सरकार पर साधा निशाना

First published: 4 September 2019, 13:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी