Home » इंडिया » Bihar Assembly Elections: Seat sharing formula in BJP and JDU
 

बिहार विधानसभा चुनाव के लिए BJP और JDU में सीट बंटवारे को लेकर उठापटक शुरू

कैच ब्यूरो | Updated on: 18 January 2020, 13:10 IST

Bihar Assembly Elections: बिहार में इस साल के अंत में विधानसभा चुनाव होने हैं. इससे पहले भारतीय जनता पार्टी और जनता दल यूनाइटेड में सीट बंटवारे को लेकर गुणा-भाग शुरू हो चुका है. बिहार की धरती से भाजपा अध्यक्ष अमित शाह घोषणा कर चुके हैं कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व में ही एनडीए चुनाव लड़ेगा. 

माना जा रहा है कि लोकसभा चुनाव की तर्ज पर दोनों पार्टियां 50-50 फॉर्मूले पर सहमत हो सकती हैं. साल 2015 के विधानसभा चुनाव में जदयू और भाजपा ने अलग-अलग गठबंधन के साथ चुनाव लड़ा था, जबकि उससे पहले साल 2010 के चुनाव में दोनों पार्टियों ने एक साथ चुनाव लड़ा था.

इस बार भी दोनों पार्टियां साथ मिलकर चुनाव लड़ेंगी तो लोकसभा चुनाव में हुए सीट शेयरिंग फार्मूले के आधार पर विधानासभा चुनाव में सीट बंटवारा हो सकता है. अगर ऐसा होता है तो इस बार 124 मौजूदा सीटों में से 52 विधानसभा क्षेत्रों में उम्मीदवारी में फेरबदल हो सकता है.

साल 2015 के चुनाव में जदयू ने बिहार की 243 सीटोंं में से 71 सीटों पर जीत हासिल की थी, जबकि भाजपा 53 सीटों पर जीती थी. 24 ऐसी सीटें हैं जहां भाजपा पहले और जदयू दूसरे नंबर पर रही थी, जबकि 28 सीटों में जदयू पहले नंबर पर और भाजपा दूसरे नंबर पर थी. ऐसे में कुछ सीटों पर उम्मीदवारों की फेरबदल हो सकती है.

जदयू उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर ने पिछले दिनों कहा था कि जदयू और भाजपा के बीच सीटों का बंटवारा 2010 के फॉर्मूले के तहत होना चाहिए. तब भाजपा 102 सीटों तथा जदयू 141 सीटों पर चुनाव लड़ी थी. हालांकि इस बयान के बाद जदयू के ही कई नेताओं ने किशोर के बयान को खारिज कर दिया था. कुछ लोगों ने यह भी कहा था कि प्रशांत किशोर यह बयान नीतीश कुमार के कहने पर ही दे रहे हैं.

इंदिरा जयसिंह की सलाह से नाराज निर्भया की मां बोलीं- इन्हीं लोगों की वजह से बच जाते हैं दोषी

अनिश्चितकाल तक बंद हो सकता है शिरडी शहर, साईं बाबा के भक्तों को लग सकता है झटका

First published: 18 January 2020, 13:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी