Home » इंडिया » bihar board 12th result declared BSEB Bihar Board Intermediate Result 2017 announced
 

Bihar Board 12th Result: फर्स्ट डिवीजन में फेल हुआ बिहार

कैच ब्यूरो | Updated on: 30 May 2017, 17:38 IST

बिहार स्कूल एग्जामिनेशन बोर्ड (बीएसईबी) ने इंटरमीडिएट (12वीं कक्षा) का रिजल्ट जारी कर दिया है. बिहार बोर्ड ने 12वीं साइंस, कॉमर्स और आर्ट्स स्ट्रीम का रिजल्ट एक साथ घोषित किया है. परीक्षा परिणाम का एलान सुबह करीब साढ़े 11 बजे किया गया.

परीक्षार्थी www.biharboard.ac.in पर जाकर अपना रिजल्ट देख सकते हैं. बिहार इंटरमीडिएट रिजल्ट का एलान बिहार विद्यालय परीक्षा समिति ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान किया. बिहार बोर्ड का साइंस का रिजल्ट 30.76 रहा है, जबकि कॉमर्स में 73.76 फीसदी विद्यार्थी पास हुए हैं. वहीं आर्ट्स में 37.13 फीसदी विद्यार्थी पास हुए हैं. 

रमेश कुमार आर्ट्स, खुशबू साइंस टॉपर

आर्ट्स में समस्तीपुर के रमेश कुमार ने टॉप किया है. कॉमर्स कॉलेज के प्रियांशु जायसवाल ने कॉमर्स में टॉप किया है. वहीं जमुई सिमुलतला की खुशबू ने साइंस में टॉप किया है.

बिहार बोर्ड के अध्यक्ष आनंद किशोर ने बता दिया था कि कि इंटर की तीनों स्ट्रीम साइंस, कॉमर्स और आर्ट्स का रिजल्ट बीएसईबी की आधिकारिक वेबसाइट biharboard.ac.in पर 30 मई को सुबह 11 बजे जारी कर दिया जाएगा. 

टॉपर खुशबू को मिले 86.2 फीसदी मार्क्स

गौरतलब है कि तीनों स्ट्रीम को अगर मिलाकर देखें, तो सबसे ज्यादा अंक खुशबू कुमारी के ही होते हैं. 500 में 431 अंक (86.2 फीसदी) लाकर खुशबू ने बिहार बोर्ड टॉप किया है.

वहीं कॉमर्स टॉपर प्रियांशु ने 500 में 405 अंक (81 फीसदी) हासिल किए. वहीं आर्ट्स स्ट्रीम से परीक्षा देने वाले रमेश कुमार ने 500 में 413 अंक (82.6 फीसदी) हासिल कर मेरिट लिस्ट में ओवर ऑल दूसरी रैंकिंग हासिल की है.

ऐसे पता करें अपना रिजल्ट

1. सबसे पहले बोर्ड की आधिकारिक वेबसाइट biharboard.ac.in पर पहुंचे.
2. उसके बाद BSEB 12th Result 2017 लिंक पर क्लिक करें.
3. आवश्यक जानकारी दर्ज करें.
4. सब्मिट के लिंक पर क्लिक करें, रिजल्ट आपकी स्क्रीन पर आ जाएगा.

पिछले साल BSEB में आर्ट्स की टॉपर रूबी राय का मामला सुर्खियों में छाया रहा था.

रिजल्ट में गिरावट

रिजल्ट में पिछले साल की तुलना में गिरावट देखी गई है, जो कि पहले से ही तय माना जा रहा था. इस बार परीक्षा केंद्रों पर नकल रोकने के लिए काफी सख्ती बरती गई थी. कॉपियों की बार कोडिंग की वजह से पैरवीकारों की पैरवी पहले की तरह नहीं हो सकी. किस छात्र की कॉपी कौन चेक कर रहा है, यह पता ही नहीं चल सका.

राज्य में 12वीं की परीक्षा 14 फरवरी से 25 फरवरी तक चले थे. करीब 13 लाख छात्रों ने 12वीं की परीक्षा में हिस्सा लिया था. पिछले साल बिहार स्कूल एग्जामिनेशन बोर्ड (BSEB) ने 12वीं कक्षा कॉमर्स स्ट्रीम के रिजल्ट 17 मई को, साइंस साइड का रिजल्ट 10 मई को और 28 मई को आर्ट्स और साइंस का रिजल्ट घोषित किया था. 

टॉपर्स घोटाले पर हुई थी किरकिरी

पिछले बार टॉपर्स घोटाला सामने आने पर बिहार बोर्ड और सरकार की काफी किरकिरी हुई थी. आर्ट्स टॉपर रूबी राय ने इंटरव्यू के दौरान पॉलिटिकल साइंस को प्रोडिकल साइंस बताया था. वहीं साइंस टॉपर भी कई आसान से सवालों के जवाब नहीं दे पाए थे.

मामले के तूल पकड़ने के बाद नीतीश सरकार ने जांच के आदेश दिए थे. पुलिस की तफ्तीश में घोटाले की परतें उतरती चली गईं. बीएसईबी के अध्यक्ष लालकेश्वर सिंह और बच्चा राय की इस मामले में गिरफ्तारी भी हुई थी. वहीं रूबी सहित सभी फर्जी टॉपरों के रिजल्‍ट रद कर दिण्‍ गए थे. जांच की जद में बोर्ड के तत्कालीन अध्‍यक्ष और सचिव सहित कई सफेदपोश लोग भी हैं.

First published: 30 May 2017, 13:41 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी