Home » इंडिया » Bihar CM Nitish Kumar is ready for any sacrifice for Reservation says no one can end reservation
 

आरक्षण के लिए हर कुर्बानी देने को तैयार हैं बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार

कैच ब्यूरो | Updated on: 1 November 2018, 9:06 IST

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने एक बार फिर से आरक्षण को लेकर अपना सख्त रूख दिखाया है.नीतीश कुमार ने कहा कि किसी में भी इतनी ताक़त नहीं है कि देश में मौजूद अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति (एससी/एसटी) के लिए आरक्षण को ख़त्म कर सके.

ये बड़ा बयान नीतीश कुमार ने एक दलित-महादलित कार्यकर्ता सम्मेलन के दौरान दिया, उन्होंने कहा, ''हमारी प्रतिबद्धता न्याय के साथ विकास के प्रति है. न्याय के साथ विकास का मतलब समाज के हर तबके और हर इलाके का विकास है.''


नीतीश के आरक्षण पर कहा कि देश में अभी जो अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षण के प्रावधानों की व्यवस्था है उसको ख़त्म करने की क्षमता किसी में भी नहीं है. आगे तल्ख़ अंदाज में उन्होंने कहा कि इसके लिए जो भी करना पड़े हम उसके लिए तैयार हैं. उन्होंने कहा, '' हम हर कुर्बानी देने के लिए तैयार हैं. जिन्होंने कभी आरक्षण के लिए कुछ नहीं किया, वे ऐसी बातें कर रहे हैं.''

नीतीश कुमार ने विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा, ''लोग बिना काम किए और बिना सिद्धांत के प्रति निष्ठा रखे राजनीति में आ जाते हैं और ताकत मिलने पर उसका दुरुपयोग करते हैं.''

17 सालों से अनावरण के इंतजार में कपड़े से लिपटी है देश की पहली महिला PM इंदिरा गांधी की मूर्ति

समाज में फैलने वाले मतभेदों को लेकर उन्होंने कहा कि समाज में कुछ लोग ऐसे हैं जो भ्रम और टकराव उत्पन्न करना चाहते हैं. जिससे उनके स्वार्थ की पूर्ती हो. संविधान का जिक्र करते हुए नीतीश कुमार ने कहा कि बाबा साहेब ने संविधान की रचना की, जिसको संविधान सभा द्वारा स्वीकार किया गया.

आरक्षण के समर्थन में दृढ़ता से खड़े नीतीश ने कहा कि उडी आरक्षण नहीं मिलेगा तो हाशिए पर रह रहे लोग मुख्य धारा में कैसे आएंगे. मुख्यमंत्री ने कहा, ''यह ज्ञान एवं मोक्ष की भूमि है. जब ‘‘जय भीम'' कहते हैं तो यह समझ लें कि बौद्ध धर्म का संदेश अहिंसा, शांति एवं सहिष्णुता का है. जब तक आपका विकास नहीं होगा. समाज, राज्य एवं देश का विकास नहीं हो सकता है.''

First published: 1 November 2018, 9:06 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी