Home » इंडिया » bihar government may extend BPSC Main exam date
 

बिहार शिक्षामंत्री: 'बीपीएससी मुख्य परीक्षा की तारीख बढ़ा सकती है बिहार सरकार'

निखिल कुमार वर्मा | Updated on: 13 June 2016, 14:22 IST

बिहार लोक सेवा आयोग (बीपीएससी) मुख्य परीक्षा की तारीख को आगे बढ़ाया जा सकता है. बिहार के शिक्षा मंत्री अशोक कुमार चौधरी ने कैच से विशेष बातचीत में बताया कि सरकार बीपीएससी परीक्षा की तारीख को आगे बढ़ा सकती है.

परीक्षा की तारीख को बढ़ाने की मांग को लेकर पटना से लेकर दिल्ली तक छात्र धरना-प्रदर्शन कर रहे हैं. बीपीएससी ने मुख्य परीक्षा को आठ जुलाई से 30 जुलाई के बीच कराने का कार्यक्रम घोषित किया है.

वहीं संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) पहले ही प्रारंभिक परीक्षा की तारीख सात अगस्त को घोषित कर चुका है. करीब 25 हजार छात्र बीपीएससी के फैसले से परेशान हैं. छात्रों की मांग है कि बीपीएससी मुख्य परीक्षा की तारीख को आगे बढ़ाया जाए और उसे यूपीएससी के प्रारंभिक परीक्षा के बाद लिया जाए.

यूपीएससी और बिहार लोक सेवा आयोग की तारीखों के टकराव से छात्र परेशान

इस मसले पर शिक्षा मंत्री ने कहा कि बीपीएससी स्वायत्त संस्था है. यह मसला सरकार के संज्ञान में है.सरकार बीपीएससी से इस मसले पर बातचीत कर रही है. उन्होंने उम्मीद जताई कि छात्रों के हित को ध्यान में रखते हुए उचित फैसला लिया जाएगा.

छात्रों का कहना है कि बीपीएससी और यूपीएससी परीक्षा के पैटर्न में काफी अंतर है. जो छात्र बीपीएससी की मुख्य परीक्षा में लगे हुए हैं, उनका इस साल यूपीएससी की प्रारंभिक परीक्षा निकाल पाना मुश्किल होगा. क्योंकि छात्रों को यूपीएससी परीक्षा की तैयारी का समय बिल्कुल नहीं मिलेगा.

प्रदर्शन कर रहे एक छात्र हरेंद्र यादव ने कैच को बताया कि जो छात्र बीपीएससी और यूपीएससी दोनों परीक्षा में बैठ रहे हैं, वैसे करीब एक हजार छात्रों का एडमिट कार्ड बीपीएससी ने छात्रों से मांगा है. इसके बाद बीपीएससी कोई फैसला देर शाम तक ले सकती है. छात्र अपने एडमिट कार्ड बीपीएससी के अलावा राजभवन और मुख्यमंत्री कार्यालय में भी सौंपने की तैयारी में है.

First published: 13 June 2016, 14:22 IST
 
निखिल कुमार वर्मा @nikhilbhusan

निखिल बिहार के कटिहार जिले के रहने वाले हैं. राजनीति और खेल पत्रकारिता की गहरी समझ रखते हैं. बनारस हिंदू विश्वविद्यालय से हिंदी में ग्रेजुएट और आईआईएमसी दिल्ली से पत्रकारिता में पीजी डिप्लोमा हैं. हिंदी पट्टी के जनआंदोलनों से भी जुड़े रहे हैं. मनमौजी और घुमक्कड़ स्वभाव के निखिल बेहतरीन खाना बनाने के भी शौकीन हैं.

पिछली कहानी
अगली कहानी