Home » इंडिया » Bihar Muzaffarpur acute encephelitis syndrome death toll rises to 83
 

बिहार के मुजफ्फरपुर में नहीं थम रहा बच्चों की मौत का सिलसिला, चमकी बुखार से अबतक 83 की मौत

कैच ब्यूरो | Updated on: 16 June 2019, 11:11 IST

बिहार के मुजफ्फरपुर में बच्चों की मौत का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा. यहां अबतक 83 बच्चों की मौत हो चुकी है और ये आंकड़ा अभी और भी बढ़ सकता है. सभी बच्चों की मौत की वजह चमकी बुखार यानि एक्यूट इंसेफेलाइटस सिंड्रोम से हुई है. श्रीकृष्णा मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल के सुपरिटेंडेंट सुनील कुमार शाही ने इस बात की जानकारी दी है.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन भी आज मुजफ्फरपुर के दौरे पर हैं. वहीं बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने चमकी बुखार से मरने वाले बच्चों के परिवार को 4 लाख रुपए सहायता राशि देने का एलान किया है. साथ ही उन्होंने स्वास्थ्य विभाग, जिला प्राशसन और डॉक्टरों को इस बीमारी से निपटने के लिए जरूरी कदम उठाने के भी आदेश दिए हैं.

बता दें कि बिहार के मुजफ्फरपुर में फैला चमकी बुखार 15 साल तक के बच्चों को अपनी गिरफ्तर में ले रहा है. जिसके चलते बच्चों की लगातार मौत हो रही हैं. हालांकि मरने वाले बच्चों में एक से सात साल की उम्र के ज्यादा है. डॉक्टर्स के मुताबिक, इस बीमारी के मुख्य लक्षण तेज बुखार, उल्टी-दस्त, बेहोशी और शरीर के अंगों में रह-रहकर कंपन होना शामिल हैं.

इसके अलावा गर्मी ने भी लोगों का जीना दूभर कर दिया है. बिहार के गया में अनुग्रह नारायण मगध मेडिकल कॉलेज में गर्मी के चलते 12 लोगों की मौत की खबर है. गया के कलेक्टर के मुताबिक मरने वाले 12 में से 7 लोग गया के रहने वाले हैं. वहीं 2 औरंगाबाद, एक छात्र, एक शेखपुरा और एक नवादा का रहने वाला है. वहीं 25 मरीज अभी भी यहां भर्ती हैं.

First published: 16 June 2019, 11:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी