Home » इंडिया » Bihar: Newly sworn education minister Mewalal Choudhary resigns after facing corruption allegations
 

बिहार: सरकार गठन के तीन दिन के भीतर नीतीश सरकार के मंत्री पर लगा भ्रष्टाचार का आरोप, देना पड़ा इस्तीफा

कैच ब्यूरो | Updated on: 19 November 2020, 19:25 IST

Bihar Education Minister Resigns: बिहार में नई सरकार का गठन हुए अभी मात्र तीन दिन ही हुए हैं. इतनी जल्दी सरकार के एक मंत्री पर करप्शन का आरोप लगा और उन्हें इस्तीफा देना पड़ा. नीतीश कुमार(Nitish Kumar) की नई बनी सरकार में इतना बड़ा घटनाक्रम सामने आने के बाद बिहार की राजनीति में बवाल मच गया है.

दरअसल, नीतीश कुमार ने अपनी कैबिनेट में भ्रष्टाचार का आरोप झेल रहे नेता मेवालाल चौधरी(Mewalal Choudhary) को अपनी सरकार का शिक्षा मंत्री चुना था. मेवालाल चौधरी को अपने पद की शपथ लेने के तीन दिन के भीतर ही इस्तीफा देना पड़ गया. मेवालाल पर भागलपुर कृषि विश्वविद्यालय का कुलपति रहने के दौरान सहायक प्रोफेसर और कनिष्ठ वैज्ञानिक के पद पर नियुक्ति में भ्रष्टाचार और अनियमितताओं से जुड़े आरोप लगे थे.

भ्रष्टाचार में लिप्त नेता को शिक्षामंत्री बनाए जाने के फैसले के बाद नीतीश कुमार की काफी आलोचना हो रही थी. तेजस्वी यादव के नेतृत्व वाली राजद पार्टी ने इसे लेकर खूब बवाल मचाया था. तेजस्वी ने सीएम नीतीश पर आरोप लगाया कि वो अपराधियों को बचा रहे हैं. उन्होंने एक ट्वीट में लिखा था, "सीएम नीतीश कुमार ने मेवालाल चौधरी को नियुक्त करके लूट और डकैती की छूट दी है. अपनी कुर्सी बचाने के लिए वह अपराध, भ्रष्टाचार और सांप्रदायिकता पर अपना प्रवचन जारी रखेंगे."

सुरक्षाबलों ने जैश के 4 आतंकियों को किया ढेर, एनकाउंटर का VIDEO देख सीना हो जाएगा चौड़ा

बता दें कि मेवालाल चौधरी के ऊपर भ्रष्टाचार के आरोपों के बाद उन्हें साल 2017 में खुद जेडीयू ने निलंबित कर दिया था. हालांकि बाद में उन्हें फिर से नीतीश कुमार ने पार्टी में शामिल कर लिया था. उस समय बीजेपी विपक्ष में थी. बीजेपी ने तब चौधरी की गिरफ्तारी की मांग की थी. यहां तक कि उस वक्त बिहार के राज्यपाल रहे राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने मेवालाल चौधरी के खिलाफ आपराधिक मामला दायर करने की मंजूरी दी थी. 

दिल्ली: मास्क नहीं पहनने वालों पर लगेगा 2 हजार का जुर्माना, सरकार ने दी मंजूरी

Coronavirus: दिल्ली में मास्क न पहनने पर लगेगा 2000 रुपये का जुर्माना, पढ़िए CM केजरीवाल ने और क्या कहा ?

First published: 19 November 2020, 19:25 IST
 
अगली कहानी