Home » इंडिया » Bihar toppers scam: SIT arrested former BSEB chief Lalkeshwar Prasad Singh and his wife JDU leader Usha Sinha
 

बिहार टॉपर्स कांड: कथित मास्टरमाइंड लालकेश्वर और उनकी पत्नी ऊषा गिरफ्तार

कैच ब्यूरो | Updated on: 20 June 2016, 13:10 IST
(फाइल फोटो)

टॉपर्स कांड में फरार चल रहे बिहार विद्यालय परीक्षा समिति (बीएसईबी) के पूर्व चेयरमैन लालकेश्वर प्रसाद सिंह को सोमवार को वाराणसी से गिरफ्तार कर लिया गया. इसी मामले में आरोपी उनकी पत्नी और जेडीयू की पूर्व विधायक ऊषा सिन्हा को भी गिरफ्तार किया गया है.

इसके साथ ही मुजफ्फरपुर से मुख्य आरोपी बच्चा राय के तीन साथि‍यों को हिरासत में लिया गया है. इसमें बच्चा राय के वैशाली के विशुन राय कॉलेज का डिप्टी डायरेक्टर भी शामिल है. लालकेश्वर प्रसाद सिंह को इस पूरे कांड का मास्टरमाइंड माना जा रहा है.

इस मामले में बनाई गई विशेष जांच टीम (एसआईटी) ने लालकेश्वर और उनकी पत्नी को गिरफ्तार किया है.

बिहार बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष हैं लालकेश्वर

बिहार की किरकिरी करवाने वाले इस कांड के दोनों अभियुक्तों को एसआईटी ने राजधानी पटना से बाहर गिरफ्तार किया है. गिरफ्तारी के बाद दोनों को अज्ञात जगह पर ले जाया गया है.

फर्जी टॉपर्स कांड में राज्य सरकार की ओर से दर्ज आपराधिक मामले में लालकेश्वर और उनकी पत्नी के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किया गया था. आरोप है कि लालकेश्वर प्रसाद सिंह के कार्यकाल में बोर्ड ऑफिस काले कारनामों का अड्डा बन चुका था.

दो टॉपर्स का रिजल्ट रद्द

एक निजी न्यूज़ चैनल ने बिहार में बारहवीं बोर्ड के फर्जी टॉपर्स मामले का खुलासा किया था. जिसके बाद टॉपर्स का फिर  से टेस्ट लिया गया. टेस्ट के बाद सौरभ श्रेष्ठ और राहुल कुमार का रिजल्ट रद्द कर दिया गया.

इसके अलावा आर्ट्स टॉपर रूबी राय टेस्ट के लिए उपस्थि‍त नहीं हुईं.

बोर्ड अध्यक्ष पद से दिया था इस्तीफा

निचली अदालत ने 15 जून को लालकेश्वर प्रसाद सिंह और उनकी पत्नी के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किया था. इस मामले में आरोपों में घिरने के बाद लालकेश्वर ने बिहार बोर्ड के चेयरमैन पद से पहले ही इस्तीफा दे दिया था.

पिछले हफ्ते एसआईटी ने लालकेश्वर प्रसाद के पीए अनिल सिंह को को नालंदा के हिलसा से गिरफ्तार किया गया था. बिहार बोर्ड टॉपर्स कांड में आरोपी बच्चा राय पहले ही पुलिस की गिरफ्त में आ चुका है. कोर्ट ने उसे 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेजा हुआ है.

बच्चा राय पर आर्म्स एक्ट केस दर्ज

कोर्ट के आदेश के बाद बच्चा राय ने एक बार फिर खुद को बेकसूर बताया है. बच्चा राय का कहना है कि वो कभी लालकेश्वर सिंह से नहीं मिला. सिटी एसपी के सामने बच्चा राय ने बयान दिया है.

इस मामले में पटना कोतवाली में दर्ज प्राथमिकी के मुताबिक इंटरमीडिएट साइंस में फर्स्ट टॉपर सौरभ श्रेष्ठ के बजाय बच्चा राय की बेटी शालिनी राय है. एसआईटी ने बच्चा राय के विशुन राय कॉलेज को भी सील कर दिया था.

इस बीच बच्चा राय के दफ्तर से एक पिस्टल और पांच जिंदा कारतूस बरामद होने के मामले में आर्म्स एक्ट के तहत केस दर्ज किया गया है. इस मामले में बच्चा राय को मुख्य अभियुक्त बनाया गया है.

First published: 20 June 2016, 13:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी