Home » इंडिया » Bihar: Upendra Kushwaha's Rashtriya Lok Samta Party devided in two part
 

बिहार: NDA का साथ छोड़ते ही उपेंद्र कुशवाहा की पार्टी में फूट, दो भागों में बंटी RLSP

कैच ब्यूरो | Updated on: 15 December 2018, 15:44 IST

बिहार में उपेंद्र कुशवाहा की पार्टी राष्ट्रीय लोक समता पार्टी में बड़ी फूट की खबर सामने आ रही है. खबर है कि एनडीए से अलग होने के बाद वह दो भागों में विभाजित हो गई है. बिहार में रालोसपा के दोनो विधायकों और इकलौते विधान परिषद सदस्य ने एनडीए के साथ रहने की घोषणा करते हुए रालोसपा पर खुद का दावा ठोंक दिया है.

खबर है कि इन नेताओं ने खुद को असली रालोसपा का नेता बताया है और वर्तमान अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा पर व्यक्तिगत राजनीति करने का आरोप लगाया है. इसके बाद एनडीए छोड़ते ही उपेंद्र कुशवाहा अपने ही दांव में फंस गए हैं.

पढ़ें- अगर कमलनाथ ने कर दिया किसानों का कर्जामाफ, तो बर्बाद हो जाएगी मध्य प्रदेश की अर्थव्यवस्था

इन तीनों नेताओं कहा कि अगर जरूरत पड़ेगी तो वे लोग निर्वाचन आयोग से मिलकर अपनी बात रखेंगे. तीनों ने दावा किया कि रालोसपा के अधिकांश कार्यकर्ता भी उनके साथ हैं. उपेंद्र कुशवाहा पर व्यक्तिवादी राजनीति करने का आरोप लगाते हुए उन्होंने कहा कि वे केवल अपने लाभ की बात करते हैें. 

विधायकों ने कहा कि उन्हें न पार्टी से मतलब रहा ना ही बिहार से मतलब रहा. पटना में एक संवाददाता सम्मेलन में रालोसपा के विधान परिषद सदस्य संजीव शेखर ने एनडीए नेतृत्व पर विश्वास जताते हुए कहा कि बिहार विधान मंडल में रालोसपा के तीनों सदस्य राजग के साथ हैं और आगे भी रहेंगे.

पढ़ें- '2019 का लोकसभा चुनाव जीतने के बाद श्रीराम का नहीं मोदीजी का मंदिर बनाएगी BJP'

हालांकि उन्होंने एनडीए नेतृत्व पर सवाल खड़ा करते हुए राजग नेतृत्व से भागीदारी के हिसाब से हिस्सेदारी की मांग की. उन्होंने हालांकि यह भी कहा कि राजग उन्हें सरकार में प्रतिनिधित्व दे या नहीं दे परंतु वे राजग को मजबूत करने के लिए काम करते रहेंगे.

First published: 15 December 2018, 15:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी