Home » इंडिया » Bijapur Naxal Encounter: 22 security personnel have lost their lives in the attack
 

Bijapur Naxal Encounter: 22 जवानों की शहादत पर दु:खी हुआ देश, जंगल में मिले 17 जवानों के शव

कैच ब्यूरो | Updated on: 4 April 2021, 14:27 IST
bijapur naxal attack (ani)

Bijapur Naxal Attack: छत्तीसगढ़ के बीजापुर और सुकमा में नक्सलियों के साथ मुठभेड़ में अब तक 22 जवान शहीद हो गए हैं. सुरक्षाबलों ने 9 नक्सलियों को भी मार गिराया है. नक्सलियों के साथ मुठभेड़ में 22 जवानों के शहीद होने पर देश में गम का माहौल है. इस घटना पर देश के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री अमित शाह ने दु:ख जताया है.

राष्ट्रपति कोविंद ने बीजापुर एनकाउंटर में 22 जवानों की शहादत संवेदना प्रकट किया. उन्होंने अपने ऑफिशियल ट्विटर अकाउंट से ट्वीट किया , "छत्तीसगढ़ में माओवादी विद्रोह से जूझते हुए हमारे सुरक्षाकर्मियों की हत्या गहरी पीड़ा का विषय है. शोक संतप्त परिवारों के प्रति मेरी गहरी संवेदना. देश जवानों के परिवार के दर्द को साझा करता है और इस बलिदान को कभी नहीं भूलेगा."

इस घटना को लेकर केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने राज्य के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से फोन पर बात की और घटना की जानकारी ली. उन्होंने फोन पर सीएम बघेल को नक्सल हिंसा के खिलाफ मिलकर मुकाबला करने तथा जीतने का आश्वासन दिया. देश के गृहमंत्री ने इसके अलावा सीआरपीएफ के महानिदेशक को भी घटनास्थल पर जाने का निर्देश दिए.

अमित शाह ने इस बाबत एक ट्वीट कर कहा कि शांति और प्रगति के दुश्मनों के खिलाफ देश की सरकार अपनी लड़ाई जारी रखेगी. छत्तीसगढ़ में माओवादियों से लड़ते हुए शहीद हुए जवानों को उन्होंने नमन किया और कहा कि राष्ट्र उनके शौर्य को कभी नहीं भूलेगा. उन्होंने शहीद हुए वीर जवानों के परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त किया. 

इससे पहले राज्य के नक्सल विरोधी अभियान के पुलिस उप महानिरीक्षक ने जानकारी दी थी कि बीजापुर और सुकमा जिले से शुक्रवार की रात CRPF के कोबरा बटालियन, डीआरजी और एसटीएफ के संयुक्त दल को नक्सल विरोधी अभियान में रवाना किया गया था. बीजापुर के तर्रेम, पामेड़ और उसूर तथा सुकमा जिले के मिनपा और नरसापुरम से 2 हजार जवान इस एनकाउंटर में शामिल हुए थे.

Bijapur Naxal Encounter: नक्सलियों के साथ मुठभेड़ में 5 जवान शहीद, 15 जवान अभी भी लापता

Coronavirus का देश में बढ़ता प्रकोप, PM मोदी ने बुलाई हाई लेवल मीटिंग

First published: 4 April 2021, 14:27 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी