Home » इंडिया » Bijnor triple murder case, accused lawyer aishwarya singh arrested in bijnor, gunner still at large
 

बिजनौर हत्याकांड: 15 दिन से फ़रार वक़ील ऐश्वर्य सिंह गिरफ़्तार

कैच ब्यूरो | Updated on: 1 October 2016, 14:59 IST
QUICK PILL
  • बिजनौर के पेदा गांव में 16 सितंबर को हुई वारदात के आरोपी वकील ऐश्वर्य सिंह को बिजनौर पुलिस ने गिरफ़्तार कर लिया है. उत्तर प्रदेश पुलिस के एडीजी दलजीत चौधरी का दावा है कि मुलज़िम ऐश्वर्य के ख़िलाफ़ उनकेे पास पर्याप्त सुबूत हैं.

बिजनौर हत्याकांड में 15 दिन से फरार चल रहे आरोपी ऐश्वर्य सिंह ने शनिवार की दोपहर थाना कोतवाली शहर में सरेंडर कर दिया. 16 सितंबर को बिजनौर के पेदा गांव में हुए तिहरे हत्याकांड में वकील ऐश्वर्य सिंह फरार चल रहे थे. ऐश्वर्य पर मुख्य आरोपी संसार सिंह और उनके समर्थकों को भड़काने और वारदात के वक़्त मौके पर मौजूद होने के आरोप हैं. अभी तक इस हत्याकांड में कुल 19 मुलज़िमों को गिरफ़्तार किया जा चुका है.

उत्तर प्रदेश पुलिस में कानून व्यवस्था के एडीजी दलजीत चौधरी ने कैच न्यूज़ को बताया कि ऐश्वर्य सिंह को गिरफ़्तार किया गया है. अभी तक गिरफ़्तार 18 आरोपियों से हुई पूछताछ में सभी ने ऐश्वर्य सिंह की भूमिका कुबूल की है. पुलिस के पास इस मुलज़िम के ख़िलाफ़ तस्वीरों के अलावा कई अहम सुबूत हैं. अभी तक ऐश्वर्य सिंह का गनर सोनू पुलिस की गिरफ़्त में नहीं आया है. पुलिस के मुताबिक सोनू न पेदा गांव में गोलीबारी भी की थी.

मुलज़िम ऐश्वर्य के समर्थक और स्थानीय बीजेपी नेताओं ने इस हत्याकांड के राजनीतिकरण की कोशिश भी की. शहर के शहनाई बैंक्वेट हॉल में इनके समर्थकों और जाट समुदाय ने महापंचायत की कोशिश की थी लेकिन बिजनौर पुलिस ने इजाज़त नहीं दी. बिजनौर पुलिस ने कहा कि पूरे इलाक़े में धारा 144 अभी भी लागू है. अगर कोई भी कानून तोड़ता हुआ पाया जाता है तो उसे गिरफ्तार कर लिया जाएगा.

मुलज़िम का बीजेपी कनेक्शन?

पेशे से वकील ऐश्वर्य सिंह अधिवक्ता संघ के ज़िलाध्यक्ष हैं. बिजनौर शहर में ऐश्वर्य की तस्वीरों के साथ टंगी होर्डिंग से पता चलता है कि इनका जुड़ाव बीजेपी से है. स्थानीय पत्रकारों के मुताबिक उत्तर प्रदेश के आगामी विधानसभा चुनाव के लिए ऐश्वर्य सिंह बीजेपी से टिकट पाने की तैयारी कर रहे थे.

First published: 1 October 2016, 14:59 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी