Home » इंडिया » Bipin rawat become Army chief and Air marshal BS Dhanoa replace Arup saha
 

वरिष्ठता को दरकिनार करके बिपिन रावत बनेंगे नये आर्मी चीफ, एयर मार्शल बीएस धनोवा होंगे एयर चीफ

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 February 2017, 8:13 IST
(एजेंसी)

रक्षा मंत्रालय की ओर से शनिवार देर शाम देश के होने वाले नए आर्मी चीफ और एयर चीफ के नामों की घोषणा कर दी गई.

नए आर्मी चीफ की नियुक्ति के मामले में केंद्र सरकार ने 33 साल बाद वरिष्ठता को दरकिनार करते हुए लेफ्टिनेंट जनरल बिपिन रावत के नाम पर मोहर लगा दी, जबकि वरिष्ठता में लेफ्टिनेंट जनरल प्रवीण बख्शी उनसे ऊपर थे.

सामान्यत: सेना प्रमुखों के नामों की घोषणा दो से तीन महीने पहले होती थी, लेकिन इस बार यह काम केवल 14 दिन पहले ही किया गया है.

वर्तमान आर्मी चीफ जनरल दलबीर सिंह सुहाग के बाद पूर्वी कमान के प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल प्रवीण बख्शी को अगले आर्मी चीफ के तौर पर देखा जा रहा था, लेकिन सरकार ने उनकी वरिष्ठता को नजरअंदाज करते हुए बिपिन रावत को कमान सौंपने का फैसला किया.

आर्मी चीफ जनरल दलबीर सिंह सुहाग 31 दिसंबर को रिटायर हो रहे हैं. होने वाले नये आर्मी चीफ लेफ्टिनेंट जनरल बिपिन रावत के पिता लेफ्टिनेंट जनरल एलएस रावत भारतीय सेना में डिप्टी चीफ रह चुके हैं.

इससे पूर्व 1983 में लेफ्टिनेंट जनरल एसके सिन्हा के बाद आर्मी में नए चीफ के लिए वरिष्ठता को प्रमुखता दी गई है, जिसके कारण लेफ्टिनेंट जनरल एसके सिन्हा ने पद से इस्तीफा दे दिया था. इस बार रक्षा मंत्रालय की ओर से बार-बार संकेत दिए गए थे कि सिर्फ वरिष्ठता आधार न हो. बिपिन रावत लेफ्टिनेंट जनरल बख्शी से जूनियर तो हैं हीं, दक्षिणी कमान के प्रमुख लेफ्टिनेंट जनलर पीएम हैरिज से भी जूनियर हैं.

हालांकि बिपिन रावत ने 1 सितंबर को वाइस चीफ का कार्य भार संभाला था, जिससे वह आर्मी चीफ की रेस में प्रबल दावेदार माने जा रहे थे.

रक्षा सूत्रों के मुताबिक पूर्वी कमान के कमांडर प्रवीण बख्शी को संतुष्ट करने के लिए चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ बनाया जा सकता है.

वहीं, एयरफोर्स में एयर चीफ मार्शल अरूप राहा के पद से रिटायर होने के बाद उनकी जगह लेेंगे एयर मार्शल बीरेंद्र सिंह धनोवा. एयर फोर्स में राहा के बाद धनवा सबसे वरिष्ठ अधिकारी हैं.

पाकिस्तान के साथ करगिल युद्ध के दौरान एयर मार्शल बीरेंद्र सिंह धनोवा के नेतृत्व में एयर फोर्स ने बहुत उम्दा प्रदर्शन किया था.

First published: 19 December 2016, 8:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी