Home » इंडिया » Biplab Kumar Deb: Gym Trainer, RSS volunteer and now BJP CM face in Tripura
 

मिलिए, जिम ट्रेनर, RSS स्वयंसेवक और अब त्रिपुरा में BJP का सीएम फेस से

कैच ब्यूरो | Updated on: 3 March 2018, 15:36 IST

त्रिपुरा में भाजपा के शानदार प्रदर्शन के बाद अब मुख्यमंत्री की दौड़ चल रहे कई नामों में से एक नाम 48 वर्षीय प्रदेश पार्टी प्रमुख बिप्लब कुमार देब का भी है. आरएसएस स्वयंसेवक रह चुके देब पार्टी का एक प्रमुख चेहरा हैं. त्रिपुरा में बदलाव का प्रमुख श्रेय बिप्लब देव को ही जाता है. पिछले साल कांग्रेस के कुछ पूर्व विधायकों को अपने पक्ष में करने में उन्होंने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी.

देब को भाजपा के राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य और त्रिपुरा के प्रभारी प्रचारक सुनील देवधर ने इस काम के लिए चुना था. आरएसएस में रहते हुए सुनील देवधर ने आठ वर्षों तक मेघालय में आदिवासियों के बीच भाजपा का विस्तार किया, इस दौरान उन्होंने सुनील देवधर के साथ लंबे समय तक काम किया.

मेघालय का यह आदिवासी इलाका राज्य की आबादी का 32% हिस्सा है. यहां अनुसूचित जनजातियों के लिए 20 (60 में से) आरक्षित सीटें हैं.

भाजपा के महासचिव राम माधव का कहना है कि 90 के दशक में हमें त्रिपुरा में भाजपा के लिए एक चेहरे की तलाश थी और हमें इसके लिए बिप्लब से बेहतर कोई चेहरा नहीं मिला. राम माधव का कहना है कि बीजेपी संसदीय बोर्ड त्रिपुरा में सीएम के नाम तय करेगा.

भाजपा संसदीय बोर्ड में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, पार्टी प्रमुख अमित शाह, गृह मंत्री राजनाथ सिंह, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, वित्त मंत्री अरुण जेटली, परिवहन मंत्री नितिन गडकरी और कुछ अन्य शामिल हैं.

बिप्लब देव त्रिपुरा यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएशन हैं. विप्लव ने नामांकन पत्र के साथ दिए ऐफिडेविट में अपनी आय मात्र 2,99,290 रुपये बताई है. बिप्लब कुमार लंबे समय से राष्ट्रीय स्वंयसेवक संघ (आरएसएस) से जुड़े हुए हैं. 48 वर्षीय बिप्लब साल 2018 में पहली बार चुनाव लड़े हैं.

त्रिपुरा की 59 सीटों में से 40 पर भाजपा आगे चल रही है.जबकि लेफ्ट पार्टी 17 सीटों पर आगे है. भाजपा को अब तक 50 फीसदी वोट मिले हैं, वहीं लेफ्ट के पक्ष में 45 फीसदी वोट गए हैं. पिछले चुनावों में लेफ्ट को 49 सीटें मिली थीं, जबकि भाजपा का खाता भी नहीं खुला था.

First published: 3 March 2018, 15:25 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी