Home » इंडिया » Bird Flu : Due to fear of bird flu, the poultry business has a strong impact, people are not eating chicken even after the rate is low
 

बर्ड-फ्लू के डर से पोल्ट्री कारोबार पर तगड़ा असर, रेट कम होने के बाद भी लोग नहीं खा रहे चिकन

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 January 2021, 11:56 IST

Bird Flu : दिल्ली बर्ड फ्लू के मामलों की पुष्टि करने वाला नौवां राज्य बन गया है. एक रिपोर्ट के अनुसार दिल्ली में बर्ड फ्लू की पुष्टि मृत कौवों और बत्तखों के आठ नमूनों के परीक्षण के बाद हुई है. दिल्ली के पशुपालन विभाग ने पुष्टि की है कि एवियन फ्लू (avian flu) के लिए सभी नमूने परीक्षण में पॉजिटिव पाए गए. आठ अन्य राज्यों - महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश, केरल, राजस्थान, मध्य प्रदेश, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा और गुजरात ने हाल ही में हुई पक्षियों की मौतों का कारण एवियन इन्फ्लुएंजा बताया था.

दिल्ली ने जीवित पक्षियों के आयात पर प्रतिबंध लगा दिया है और गाजीपुर के सबसे बड़े थोक पोल्ट्री बाजार को अस्थायी रूप से बंद कर दिया गया है. ANI के अनुसार चंडीगढ़ में बर्ड फ्लू की चेतावनी के बाद पोल्ट्री उत्पादों की बिक्री कम हो गई है. रिपोर्ट के अनुसार एक चिकन विक्रेता ने बताया "5-6 दिन से जबसे बर्ड फ्लू की शुरुआत हुई है लोग काफी डरे हुए हैं. इस बाज़ार में बहुत भीड़ होती थी लेकिन अब कस्टमर बहुत कम आ रहे हैं. काम बहुत कम हो गया है. रेट कम होने के बाद भी लोग चिकन नहीं खा रहे हैं.


हैदराबाद में भी बर्ड फ्लू की वजह से चिकन की बिक्री कम हो गई है. रिपोर्ट के अनुसार एक चिकन विक्रेता ने बताया, "हमें बहुत दिक्कत हो रही है क्योंकि ग्राहक नहीं हैं. सरकार से निवेदन है कि हमारे लिए कुछ करे. लॉकडाउन के वजह से हमें पहले ही बहुत नुकसान हो चुका है. आज हमारी सिर्फ 25% बिक्री हुई है." उत्तर प्रदेश के नवाब वाजिद अली शाह प्राणी उद्यान में बर्ड फ्लू को देखते हुए सतर्कता बढ़ाई गई. प्राणी उद्यान के महानिदेशक ने बताया,"चिकन और अंडा बंद कर दिया गया है. निर्देश दिया है कि कोई चिड़िया अस्वस्थ हो या मर जाए तो उसे अलग किया जाए। बर्ड सेक्शन सील है और हाई अलर्ट पर है."

उधर उत्तराखंड के ऋषिकेश में और उसके आसपास विभिन्न स्थानों पर 30 से अधिक पक्षी मृत पाए गए हैं. सरकारी पशु चिकित्सा अधिकारी राजेश रतूड़ी ने कहा कि एम्स, ऋषिकेश के परिसर में अट्ठाईस कौवे और एक कबूतर मृत पाए गए. उन्होंने कहा कि पक्षियों के नमूने एकत्र कर आगे की कार्रवाई के लिए वन विभाग को भेज दिए गए हैं.

उत्तर प्रदेश के पशुपालन विभाग कई एहतियाती उपाय कर रहा है, जबकि लोगों से चिड़ियाघरों और पक्षी अभयारण्यों में जाने और किसी भी तरह के पक्षी के संपर्क में आने से बचने का आग्रह किया जा रहा है. अधिकारियों को यह सुनिश्चित करने के लिए कहा गया है कि किसी पक्षी की अप्राकृतिक मौत की सूचना दी जाए.

अधिकारियों ने बताया कि रविवार को हिमाचल प्रदेश के पौंग डैम झील वन्यजीव अभयारण्य में 215 प्रवासी पक्षी मृत पाए गए, जिनमें कुल प्रवासी पक्षियों की संख्या 4,235 थी. 400 से अधिक पक्षी, ज्यादातर कौवे, राजस्थान के विभिन्न हिस्सों में मृत पाए गए थे.

Bird Flu: 9 राज्यों में बर्ड-फ्लू के मामलों की पुष्टि, दिल्ली ने बंद किया गाजीपुर का थोक पोल्ट्री बाजार

First published: 11 January 2021, 11:56 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी