Home » इंडिया » Birth certificates is not mandatory for passport.
 

पासपोर्ट बनवाना हुआ बेहद आसान, सरकार ने किया बड़ी छूट का एलान

कैच ब्यूरो | Updated on: 24 July 2017, 15:11 IST
मोदी सरकार ने पासपोर्ट बनवाने वाले भारतीय लोगों को बड़ी राहत दी है. पासपोर्ट बनवाने के लिए अब आपको जन्म प्रमाणपत्र दिखाने की ज़रूरत नहीं होगी. अब पासपोर्ट आवेदन के साथ दिए जाने वाले डॉक्यूमेंटस में बर्थ सर्टिफिकेट अनिवार्य नहीं होगा.
 
सरकार ने इस हफ्ते संसद में बताया कि आधार और पैन कार्ड को जन्म प्रमाण के तौर पर प्रयोग किया जा सकता है. इससे पहले पासपोर्ट अधिनियम 1980 के दौरान 26 जनवरी 1989 के बाद जन्म लेने वालों को जन्म प्रमाण पत्र देना अनिवार्य था.
 
जन्म प्रमाण पत्र के तौर पर ये हैं वैकल्पिक डॉक्यूमेंट्स
 
नए नियमों के मुताबिक अब स्कूल के सर्टिफिकेट, पैन कार्ड, आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, वोटर आईडी और LIC बॉन्ड का प्रयोग जन्म प्रमाण के तौर पर किया जा सकता है. वहीं सरकारी कर्मचारी अपनी सर्विस रिकॉर्ड और पेंशन रिकॉर्ड दे सकते हैं. 
 
पासपोर्ट बनाने में बड़े बदलाव
 
60 साल से अधिक और 8 साल से कम उम्र के लोगों को पासपोर्ट के लिए अप्लाई करने पर 10% का डिस्काउंट मिलेगा. वहीं ऑनलाइन आवेदन करने वालों को केवल एक ही व्यक्ति का ब्यौरा देना होगा, जो कि माता या पिता किसी का भी हो सकता है.
 
शादीशुदा लोगों को भी पासपोर्ट बनाने के लिए मैरिज सर्टिफिकेट नहीं देना होगा, जबकि तलाकशुदा लोगों को भी संबंधित जानकारी नहीं देनी होगी. ये सारे नियम दिसंबर 2016 के बाद से लागू हैं.
First published: 24 July 2017, 15:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी