Home » इंडिया » BJD supported the citizenship law in the Parliament, now the NRC opposed
 

संसद में नागरिकता कानून का किया था समर्थन, अब NRC का किया विरोध

कैच ब्यूरो | Updated on: 18 December 2019, 14:23 IST

ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने बुधवार को कहा कि उनकी पार्टी बीजू जनता दल ने नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटिजन (NRC) एक्सरसाइज का समर्थन नहीं किया है. पार्टी ने संसद में नागरिकता संशोधन अधिनियम का समर्थन किया था. पटनायक ने कहा "नागरिकता संशोधन अधिनियम का भारतीय नागरिकों से कोई लेना-देना नहीं है. यह केवल विदेशियों से संबंधित है''.

लोकसभा और राज्यसभा दोनों में बीजू जनता दल के सांसदों ने स्पष्ट कर दिया था कि हम NRC को नहीं मानते हैं. नई दिल्ली रवाना होने से पहले पटनायक ने यह टिप्पणी की. एक रिपोर्ट के अनुसार उनकी टिप्पणी के एक दिन बाद भुवनेश्वर में एक शांतिपूर्ण रैली निकालने वाले लोगों ने विरोध प्रदर्शन किया और उनसे नागरिकता संशोधन अधिनियम और नागरिकों के राष्ट्रीय रजिस्टर दोनों पर राज्य सरकार के रुख को स्पष्ट करने का आग्रह किया.


अधिनियम के पारित होने के बाद भारत के विभिन्न हिस्सों में, विशेष रूप से छात्रों और उत्तर पूर्व के लोगों द्वारा बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन किए गए हैं. अधिनियम के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में लगभग 60 याचिकाएं दायर की गई हैं. शीर्ष अदालत ने बुधवार को केंद्र से जनवरी 2020 के दूसरे सप्ताह तक दलीलों का जवाब देने को कहा है.

 इस राज्य के सीएम ने कहा- नहीं होने दूंगा अपने राज्य में NRC लागू

First published: 18 December 2019, 14:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी