Home » इंडिया » BJP Government in unable to monitor obscene content on WhatsApp
 

WhatsApp पर आपत्तिजनक कंटेंट की मॉनिटरिंग नहीं कर सकती केंद्र सरकार

कैच ब्यूरो | Updated on: 28 July 2017, 19:55 IST

दुनिया के प्रमुख इंस्टैंट मैसेजिंग प्लेटफॉर्म WhatsApp पर अपलोड की जाने वाली आपत्तिजनक सामग्री (कंटेंट) की निगरानी को लेकर केंद्र सरकार ने शुक्रवार को असमर्थता व्यक्त की, क्योंकि इस पर भेजी जाने वाला कंटेंट एंड-टू-एंड एनक्रिप्टेड (सुरक्षित) होता है और कोई भी थर्ड पार्टी उन तक पहुंच नहीं बना सकती.

इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने कांग्रेस सदस्य और राज्यसभा के सांसद राज बब्बर द्वारा पूछे गए प्रश्न के जवाब में यह जानकारी दी. उन्होंने कहा कि सरकार तभी कार्रवाई करती है, जब इस संबंध में शिकायत दर्ज कराई जाए.

सांसद ने पूछा था कि क्या WhatsApp पर शेयर होने वाले आपत्तिजनक मैसेजेज और वीडियो को रोकने के लिए सरकार कोई योजना बना रही है.

 

प्रसाद ने कहा, "WhatsApp के मुताबिक उस पर भेजे गए मैसेज एनक्रिप्टेड होते हैं यानी उसे केवल भेजने वाला और पाने वाला ही देख सकता है. WhatsApp में हालांकि आपत्तिजनक सामग्रियों के बारे में रिपोर्ट दर्ज करने का फीचर है, लेकिन खुद कंपनी किसी सामग्री को देख नहीं सकती, इसलिए इस फीचर का भी फायदा नहीं है."

मंत्री ने कहा कि WhatsApp पर लोड की गई किसी आपत्तिजनक सामग्री का स्क्रीनशॉट लेकर कानून प्रवर्तक एजेंसियों के पास शिकायत दर्ज कराई जा सकती है.

उन्होंने कहा कि सूचना प्रौद्योगिकी (आईटी) कानून 2000 (2008 में संशोधित) के तहत ऐसे मामले में कार्रवाई की जाएगी.

First published: 28 July 2017, 19:55 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी