Home » इंडिया » BJP leader OP mathur on NRC- we will apply it to all over india, will not let india dharmshala
 

NRC पर बोले BJP उपाध्यक्ष ओम माथुर- 2019 में सत्ता मिलने पर पूरे देश में करेंगे लागू

कैच ब्यूरो | Updated on: 13 August 2018, 9:42 IST

असम राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) का ड्रॉफ्ट जारी होने से एक तरफ जहां 40 लाख लोगों की नागरिकता खतरे में हैं, वहीं दूसरी तरफ इस मसले पर सियासी बयानबाजी कम नहीं हो रही. सत्तारूढ़ भाजपा और विपक्ष में आरोप-प्रत्यारोप का दौर चल रहा है. साथ ही में अलग अलग पार्टियों की तरफ से भी बयानबाजी होती रही है. इस बार बीजेपी उपाध्यक्ष ओपी माथुर ने एनआरसी को लेकर कहा है कि इसे पूरे देश में लागू किया जाएगा.

ओपी माथुर ने कहा, ''एनआरसी अभी सुप्रीम कोर्ट के निर्देशन में सिर्फ असम में तैयार किया गया है लेकिन हम इसे पूरे देश में लागू करेंगे. उन्होंने कहा कि हम देश को 'धर्मशाला' नहीं बनने देंगे. घुसपैठियों को कानूनी रूप से बाहर निकाला जाएगा लेकिन कोई भी भारतीय नागरिक को बाहर नहीं निकाला जाएगा. साथ ही उन्होंने कहा कि हम 2019 लोकसभा चुनाव जीतेंगे.''

इससे पहले रविवार को कांग्रेस सांसद चरण दास महंत ने कहा था कि भारत ने सबको शरण दी है. फिर चाहे वो इंदिरा गाढ़ी के समय की बात हो या उससे पहले की. हमने किसी को भगाया नहीं है. कोई मेहमान बनकर आता है तो कोई गरीब है. हमें उन लोगों को रखना चाहिए.

ये भी पढ़ें- NRC मामला: सुब्रहमण्यम स्वामी- ममता सरकार को बर्खास्त कर पश्चिम बंगाल में लगे राष्ट्रपति शासन

उधर एनआरसी को लेकर ममता बनर्जी ने साफ़ तौर पर इसका विरोध किया था. मामला ने इस एनआरसी के ड्राफ्ट को रास्ट्रिया आपदा कहा था. साथ ही उन्होने एनआरसी लागू होने पर हिंसा की बात कही थी. जिसे लेकर उनका बहुत विरोध भी हुआ.

ये भी पढ़ें- असम NRC पर परेश रावल का तंज- 2019 का पहला रुझान आया, विपक्ष '40 लाख' वोटों से पीछे

गौरतलब है कि एनआरसी का फाइनल ड्राफ्ट आने पर बीजेपी के नेता सुब्रमण्यम स्वामी का कहना है कि जो भारतीय नागरिक नहीं हैं उन्हें बाहर भेज दिया जाना चाहिए. उन्होंने कहा कि भारत कोई धर्मशाला नहीं है. वहीं केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने कहा कि किसी भी भारतीय नागरिक पर इसका असर नहीं पड़ना चाहिए. हम असम सरकार की पहल को धन्यवाद देते हैं जिसने देश में पहली बार इस तरह का कदम उठाया.

First published: 13 August 2018, 9:42 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी