Home » इंडिया » BJP leaders Stopped From Visiting Malda, Blame Mamata Government
 

मालदा में टकराव के बाद अब बीजेपी-टीएमसी टकराए

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 January 2016, 17:21 IST

मालदा में हुई सांप्रदायिक हिंसा पर बीजेपी और सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) एक-दूसरे पर हमलावर है. सोमवार को हिंसा से प्रभावित कालियाचक (मालदा) जाने से बीजेपी सांसदों की फैक्ट फाइंडिंग टीम को प्रशासन ने रोक दिया.

बीजेपी सांसद भूपेंद्र यादव, राम विलास वेदांती और एसएस अहलूवालिया को मालदा रेलवे स्टेशन पर पहले हिरासत में लिया गया और फिर इन तीनों को कोलकाता भेज दिया गया.

मालदा हिंसा पर बीजेपी के ममता सरकार से 5 सवाल

1. हंगामे से पहले पर्चा और सांप्रदायिक सामग्रियां बांटी गई. आखिर इसे रोका क्यों नहीं गया?

2. ममता बनर्जी ने कहा कि मालदा की घटना यूपी से आए बयान (कमलेश तिवारी का बयान) का रिऐक्शन था. लेकिन रिऐक्शन फौरन होता है, 30 दिन बाद नहीं. ये प्लांड ऐक्शन था.

3. ममता ने अपना बयान बदला और कहा कि ये स्थानीय बीएसएफ सैनिकों से झड़प थी. लेकिन लोगों ने पुलिस स्टेशन क्यों जलाया?

4. एनआईए की टीम मालदा में जाली नोट रैकेट पकड़ने वाली थी. खुफिया रिपोर्टों के मुताबिक देश में 80 फीसदी जाली करेंसी का रूट मालदा से है. रैकेट का भंडाफोड़ करने के लिए बंगाल पुलिस की मदद चाहिए. ये डिटेल्स कालीचक पुलिस स्टेशन में है. रिकॉर्ड जलाने के लिए पुलिस स्टेशन पर हमला हुआ. ऐसा क्यों हुआ?

5. मालदा में अफीम की खेती होती है. इसे बांग्लादेश में भेजा जाता है. इसे क्यों नहीं रोका गया?

राज्य में कोई सांप्रदायिक तनाव नहीं है: टीएमसी

टीएमसी सांसद डेरेक ओ ब्रायन ने कहा, 'बीजेपी का इस मामले को सांप्रदायिक रंग देने का एक बुरा और असंवदेनशील प्रयास है. यह एक 'आपराधिक' घटना है सांप्रदायिक घटना नहीं, जिससे कुशलतापूर्वक निपटा गया है.'

उन्होंने आरोप लगाया कि अप्रैल में होने वाले चुनावों को देखते हुए बीजेपी अपने 'सांप्रदायिक असंवेदनशील इतिहास' के अनुसार ही काम कर रही है और 'सोशल मीडिया की अपनी सेना' का इस्तेमाल कर आग को भड़काने का काम रही है.

मालदा हिंसा पर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने शनिवार को कहा था कि राज्य में कोई सांप्रदायिक तनाव नहीं है. उन्होंने मालदा जिले के कालियाचक में हाल में हुई घटना को बीएसएफ और स्थानीय लोगों के बीच झगड़े का नतीजा बताया. गौरतलब है कि पश्चिम बंगाल में इसी साल विधानसभा चुनाव होने हैं.

First published: 11 January 2016, 17:21 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी