Home » इंडिया » bjp-mla: maharashtra govt spends more for cattle than orphan children
 

बीजेपी एमएलए: महाराष्ट्र में बच्चों पर 30 और जानवरों पर 70 रुपये का खर्च

कैच ब्यूरो | Updated on: 22 March 2016, 20:17 IST

महाराष्ट्र में बीजेपी के एक विधायक ने महाराष्ट्र सरकार पर आरोप लगाया है कि राज्य सरकार आनाथालय और सरकारी बाल गृहों में रहने वाले बच्चों की तुलना में पशुशालाओं में रहने वाले जानवरों पर ज्यादा खर्च करती है.

महाराष्ट्र के अमरावती जिले के मोरशी विधानसभा के बीजेपी विधायक अनिल बोंडे ने इस मामले में अपनी ही पार्टी की सरकार को घेरते हुए आरोप लगाया कि राज्य में सरकार पशुशाला में प्रति जानवर सत्तर रुपये का भुगतान करती है जबकि अनाथ बच्चों के लिए मात्र तीस रुपये का भुगतान करती है.

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक विधायक अनिल बोंडे ने संवाददाताों के साथ बातचीत में बताया कि सरकार द्वारा एक जानवर को सत्तर रुपया देना जबकि एक बच्चा को खाने के लिए तीस रुपया देना सरासर गलत है.

सरकार को बाल गृहों के लिए अनुदान बढ़ाना चाहिए और वर्तमान के नौ सौ रुपये प्रतिमाह के बदले पंद्रह सौ रुपये प्रतिमाह का भुगतान करना चाहिए. इसके साथ ही उन्होंने राज्य सरकार से अनुरोध किया कि अनाथ बच्चों के लिए समय पर अनुदान मुहैया कराया जाए.

गौरतलब है कि महाराष्ट्र सरकार पिछले साल अगस्त से सूखा प्रभावित लातूर, उस्मानाबाद और बीड जिलों में लगभग दो सौ पचपन पशुशाला चला रही है. इनके रखरखाव पर सरकार का लगभग साठ करोड़ रुपया खर्च होता है.

वर्तमान समय में राज्य में कुल एक हजार एक सौ पांच बालगृह हैं, जिनमें से एक हजार बासठ का संचालन सरकार द्वारा पंजीकृत एनजीओ के जरिए से किया जा रहा है.

महाराष्ट्र सरकार एक सामान्य बच्चे के भोजन पर नौ सौ रुपया मासिक का और विशेष बच्चों के लिए नौ सौ नब्बे रुपये प्रतिमाह का भुगतान किया जाता है.

First published: 22 March 2016, 20:17 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी