Home » इंडिया » bjp mp subramanian swamy blasts decesion of defence minister nirmala sitharaman told tragedy to the country
 

भाजपा सांसद ने रक्षा मंत्रालय के फैसले को बताया देश के लिए 'त्रासदी'

कैच ब्यूरो | Updated on: 13 February 2018, 9:56 IST

गाहे-बगाहे अपनी ही सरकार पर हमला करने करने वाले भाजपा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने एक बार फिर अपनी सरकार पर हमला बोला है. उन्होंने ट्वीट करके रक्षा मंत्रालय के एक फैसले को देश के लिए त्रासदी बताया है.

दरअसल रक्षा मंत्रालय ने पहली बार 500 करोड़ रुपये से ज्यादा की रक्षा खरीद पर फैसले के लिए बनाई गई निर्णय लेने वाली समिति में निजी कंसलटेंसी फर्मों को एंट्री दी है. इन फर्मों में अर्नेस्ट एंड यंग और केपीएमजी नाम की कंपनियां शामिल हैं. रक्षा मंत्रालय ने इस बावत एक प्रेस रिलीज जारी किया है.

 

रक्षा मंत्रालय ने विभाग के बड़े सौदों को हरी झंडी देने के लिए एक कमेटी बनाई है. इस कमेटी में 13 सदस्य शामिल हैं. इस कमेटी को रक्षा मंत्री एडवाइजरी कमेटी ऑन डिफेंस कैपिटेल प्रोजेक्ट (RMCOMP) नाम दिया गया है. इस कमेटी में अर्नेस्ट एंड यंग के स्पेशल एडवाइजर आर आनंद और केपीएमजी के अंबर दुबे शामिल हैं.

रक्षा मंत्रालय ने एक बयान जारी कर कहा था कि इस समिति पर स्वतंत्र रूप से समीक्षा करने की जिम्मेदारी है. साथ ही 500 करोड़ रुपये अधिक लागत वाली चल रही महत्वपूर्ण परियोजनाओं की स्थिति की जांच करेगी. समिति यह भी पता लगाएगी कि कहां बाधाएं आ रही हैं और देरी के लिए कौन से कारण जिम्मेदार हैं. समिति उन दुश्वारियों से निपटने के उपाय भी सुझाएगी. देरी के कारणों को खत्म करने के लिए क्या आधुनिक तरीके अपनाए जाएं, यह भी बताएगी.

स्वामी ने इस फैसले पर ट्वीट किया, “रक्षा मंत्रालय ने निजी कंसलटेंसी फर्म अर्नेस्ट एंड यंग और केपीएमजी को एंट्री दे दी है, यह एक और सुरक्षा त्रासदी है.”

सुब्रमण्यम स्वामी इससे पहले भी रक्षा मंत्रालय पर सवाल उठा चुके हैं. सुब्रमण्यम स्वामी ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से अपील की थी कि वह जम्मू-कश्मीर पुलिस द्वारा सेना के जवान पर प्राथमिकी दर्ज कराए जाने के मामले में रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण को तलब करके जवाब मांगे. उन्होंने सीतारमण पर राज्य सरकार को मामला दर्ज करने के लिए अनधिकृत मंजूरी देने का आरोप लगाया था.

First published: 13 February 2018, 9:50 IST
 
अगली कहानी