Home » इंडिया » BJP MP vinay katiyar statement hindus should ready for one more oblation to make ram mandir in ayodhya
 

विनय कटियार का विवादित बयान- हिंदू बलिदान के लिए हो जाएं तैयार, बनाना होगा राम मंदिर

कैच ब्यूरो | Updated on: 18 March 2018, 11:27 IST
(file photo)

साल 2019 में देश में लोकसभा चुनाव होने हैं इससे पहले बीजेपी नेता तमाम तरह की बयानबाजी करने लगे हैं. कभी राम मंदिर आंदोलन के फायर ब्रांड नेता रहे सांसद विनय कटियार ने एक विवादित बयान दिया है. विनय कटियार ने कहा हैै कि अयोध्या में स्थित विवादित श्रीराम जन्मभूमि पर राम मंदिर निर्माण के लिये एक और बलिदान की आवश्यकता है.

कटियार ने कहा कि राम मंदिर निर्माण के लिए बलिदान देने के लिए हिन्दुओं को तैयार रहना पड़ेगा. कटियार ने नव संवत्सर की पूर्व संध्या पर नयाघाट स्थित तुलसी उद्यान पर रामकोट की परिक्रमा के बाद एक सभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिये एक बलिदान की और आवश्यकता है.

 

हालांकि उन्होंने यह नहीं बताया कि बलिदान कैसा होगा. उन्होंने कहा कि यह आने वाला समय बताएगा. उन्होंने कहा कि अब बलिदान के बाद ही राम मंदिर निर्माण की शुरुआत हो पायेगी. मुलायम सिंह यादव सरकार में भी कारसेवकों ने बलिदान दिया था, तब जाकर विवादित ढांचा गिरा था, इसलिए भगवान राम भी चाहते हैं कि एक बलिदान और हो, इसके लिये समस्त हिन्दू एकजुट होकर तैयार रहें.

उन्होंने भड़काऊ बयान देते हुए कहा कि देश में हिन्दुओं के बहुत से धार्मिक स्थलों को मुगलों ने तोड़े थे और हिन्दुओं को मुगलों ने अपमानित भी किया था. हिन्दुओं को अब संकल्प लेना चाहिए कि जब तक मंदिर निर्माण का कार्य न शुरू हो जाये, तब तक हमें संकल्पित रहना होगा.

 

बाबरी मस्जिद पर उन्होंने कहा कि अयोध्या में मस्जिद की कोई कमी नहीं है. विवादित परिसर रामजन्मभूमि के इर्द-गिर्द भी बहुत सी मस्जिदें हैं, फिर भी मुसलमान हमारे श्रीरामजन्मभूमि पर मस्जिद के लिये अड़े हुए हैं. यह मुसलमानों की महाजिद है. हम लोगों को मुसलमानों की महाजिद को समाप्त करने के लिये एकजुट होना पड़ेगा.

पढ़ें- जम्मू कश्मीर: भाजपा कार्यकर्ताओं ने लगाए पाकिस्तान के समर्थन में नारे! देशद्रोह का मुकदमा दर्ज

कटियार ने कहा कि 2019-20 में विवादित श्रीरामजन्मभूमि पर विराजमान रामलला का मंदिर निर्माण शुरू हो जाएगा. इसके लिये तैयारी हो रही है. उन्होंने कहा कि जिन लोगों का मंदिर मसले से कुछ भी लेना देना नहीं है वह भी समझौते के लिये नया-नया फार्मूला लेकर आ रहे हैं, लेकिन उसमें सफल नहीं हो रहे हैं.

First published: 18 March 2018, 11:27 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी