Home » इंडिया » BJP NDA mp give up salary disrupted part of budget session
 

काम नहीं तो वेतन नहीं: 23 दिन संसद ठप रहने के वेतन नहीं लेेंगे मोदी समेत BJP-NDA के सांसद

कैच ब्यूरो | Updated on: 5 April 2018, 8:37 IST

संसदीय कार्य मंत्री अनंत कुमार ने बुधवार की शाम को कैबिनेट की बैठक के बाद ऐलान किया कि बजट सत्र के दूसरे हिस्से में 23 दिनों तक संसद न चलने की वजह से भाजपा और एनडीए के सांसद अपना वेतन और भत्ता नहीं लेंगे. इन सांसदों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी शामिल हैं.

अनंत कुमार ने कहा कि सांसदों का काम संसद में आकर लोक हित के मुद्दों को उठाना होता है, लेकिन इस सत्र में 23 दिन बर्बाद हुए हैं जिसमें कोई काम नहीं हुआ. उन्होंने कहा कि यह देश की जनता का पैसा है और हमें जनता की सेवा के लिए यह पैसा मिलता है. उन्होंने कहा कि काम नहीं होने की वजह से हमें कोई हक नहीं है कि हम यह पैसे लें. इसलिए हम देश की जनता को इसे दे रहे हैं.

 

उन्होंने आरोप लगाया कि सरकार विपक्ष द्वारा उठाए जा रहे सभी मुद्दों पर बहस के लिए तैयार थी, लेकिन कांग्रेस के अड़ियल रुख की वजह से संसद में कामकाज नहीं हो सका. उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी गैर लोकतांत्रिक तरीके से काम कर रही है और तमाम महत्वपूर्ण बिल पास होने से रोक रही है जो टैक्सपेयर्स के पैसे की बर्बादी है.

 

बता दें कि NDA-BJP के वेतन और भत्ते न लेने के ऐलान से पहले ही आम आदमी पार्टी के सांसद यह ऐलान कर चुके हैं कि वह संसद नहीं चलने की वजह से अपना वेतन भत्ता नहीं लेंगे. राज्यसभा में आम आदमी पार्टी के सांसद संजय सिंह ने बाकायदा सभापति को चिट्ठी लिखकर इसकी जानकारी दी थी.

पढ़ें : PNB SCAM: अब सीवीसी ने भी पीएनबी स्कैम का ठीकरा RBI पर फोड़ा

गौरतलब है कि संसद के बजट सत्र का दूसरा हिस्सा शुक्रवार को खत्म हो रहा है. पिछले लगातार कई दिनों से संसद ठप रही है और कोई कामकाज नहीं हो सका है. आंध्र प्रदेश की पार्टियों समेत तमाम विपक्षी पार्टियां दूसरे कई अन्य मुद्दों को लेकर कई दिनों से संसद में हंगामा कर रही हैं.

First published: 5 April 2018, 8:37 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी