Home » इंडिया » bjp president amit shah first speech in rajya sabha says government spent a lot of time in the pit
 

अमित शाह राज्यसभा में बोले: पकौड़े बनाने वालों का ना बनाए मजाक, बेटा बन सकता है उद्योगपति

कैच ब्यूरो | Updated on: 5 February 2018, 16:45 IST

भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह ने राज्यसभा सांसद बनने के बाद आज पहली बार राज्यसभा में अपना भाषण दिया. अपने भाषण की शुरुआत उन्होंने मोदी सरकार की तारीफ करते हुए किया. उन्होंने कहा कि हमारी सरकार को विरासत में बहुत बड़ा गड्डा मिला था और सरकार का ज्यादातर समय इन गड्डों को भरने में लग गया.

भाजपा अध्यक्ष ने कांग्रेस पार्टी पर हमला बोलते हुए कहा कि आजादी के बाद 70 सालों में 55 साल देश पर एक परिवार का राज रहा. पिछले 30 साल से इस देश में अस्थिरता चल रही थी लेकिन 2014 के चुनाव में जनता ने इसको ध्वस्त कर दिया. आजादी के बाद पहली बार एक गैर कांग्रेस पार्टी को जनता द्वारा बहुमत दिया गया और यह नरेंद्र मोदी की अगुवाई वाली भाजपा सरकार थी.

 

उन्होंने कहा कि पूर्ण बहुमत प्राप्त करने के बावजूद हमने एनडीए के सहयोगियों के साथ मिलकर सरकार बनाई. पिछली सरकारों मे भ्रष्टाचार का बोलबाला था. पिछले साढ़े तीन के बाद जब हम पीछे मुड़कर देखते है तो आश्चर्य होता है. उन्होंने कहा कि पिछले साढ़े तीन साल से हमारी सरकार अन्त्योदय के सिद्धांत पर आगे बढ़ रही है.

 

पकौड़ा बेचने को बताया बेहतर
पकौड़े को लेकर चल रहे विवाद को लेकर भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि बेरोजगारी से अच्छा है कि कोई युवा पकौड़े बेच रहा है. उन्होंने कहा कि पकौड़े बेचना शर्म की बात नहीं है इसकी भिखारी के साथ तुलना न करें. उन्होंने कहा कि अगर चाय वाले का बेटा पीएम बन सकता है तो पकौड़े वाले का बेटा आगे जाकर उद्योगपति भी बन सकता है.

दरअसल कुछ दिन पहले पीएम मोदी ने एक निजी चैनल दिए को इंटरव्यू में कहा था कि अगर कोई आपके चैनल के बाहर पकौड़े बेच रहा है तो वह बेरोजगार नहीं है जिसे लेकर पीएम मोदी की खूब किरकिरी हुई थी. सोशल मीडिया पर लोगों ने पीएम पर जमकर निशाना साधा था. कांग्रेस नेता पी. चिदंबरम ने कहा था कि अगर पकौड़े बेचना बिजनेस है तो भीख मांगना भी एक नौकरी है.

First published: 5 February 2018, 15:55 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी