Home » इंडिया » BJP's allies leaving the NRC after mounting opposition on CAA?
 

CAA पर बढ़ते विरोध के बाद NRC पर साथ छोड़ रहे हैं बीजेपी के सहयोगी ?

कैच ब्यूरो | Updated on: 21 December 2019, 10:04 IST

CAA Protest : देशभर ने नागरिकता कानून के खिलाफ बढ़ रहे प्रदर्शनों के बाद भारतीय जनता पार्टी के कई सहयोगी अपने रुख में बदलाव के संकेत दे रहे हैं. जदयू अध्यक्ष और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि बिहार में एनआरसी लागू नहीं होगा, लोक जनशक्ति पार्टी के अध्यक्ष चिराग पासवान ने कहा कि उनकी पार्टी किसी भी कानून का समर्थन नहीं करेगी जो आम लोगों के हित में नहीं है. दोनों बिहार में भाजपा के सहयोगी हैं और संसद में नागरिकता (संशोधन) विधेयक का समर्थन किया था.

पटना में एनआरसी पर अपनी चुप्पी तोड़ते हुए नीतीश ने कहा: "काहे के लिए लागू होगा, एकदम नहीं लागू होगा." पासवान का कहना है कि "जिस तरह से देश में प्रदर्शन हो रहे हैं, सीएबी को एनआरसी के साथ जोड़कर ... यह स्पष्ट हो गया है कि सरकार एक महत्वपूर्ण श्रेणी के बीच गलतफहमी को दूर करने में असफल रही है."


चिराग पासवान ने 6 दिसंबर को गृह मंत्री अमित शाह को लिखे एक पत्र को ट्वीट करके मांग की कि संसद में पेश किए जाने से पहले CAB पर चर्चा के लिए NDA की बैठक बुलाई जाए. जबकि उनके पिता रामविलास पासवान मोदी सरकार में मंत्री हैं.

केंद्रीय अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा "देशव्यापी एनआरसी के लिए कोई योजना नहीं है. सरकार के किसी भी स्तर पर इस मामले पर अब तक कोई चर्चा नहीं हुई है." इंडियन एक्सप्रेस के अनुसार नकवी ने कहा “एनआरसी असम तक सीमित है.

CAA Protest: गाजियाबाद में स्कूल रहेंगे बंद, यूपी के 14 जिलों में बंद की गई इंटरनेट सेवा

देश के किसी अन्य हिस्से में NRC की कोई योजना नहीं है. आप एक अजन्मे बच्चे के बारे में बात कर रहे हैं ... इसके बारे में अफवाह फैला रहे हैं."इससे पहले ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने भी में अपने राज्य में एनआरसी लागू करने से इंकार किया था. हालांकि नवीन पटनायक ने नागरिकता कानून पर संसद में सरकार का समर्थन किया था.

बीजेपी के एक और सहयोगी शिरोमणि अकाली दल (SAD) ने कहा नागरिकता संशोधन एक्ट (CAA) में मुस्लिमों को भी शामिल किया जाना चाहिए. पार्टी ने कहा हमारा देश सेकुलर है ऐसे में सिर्फ एक धर्म को बाहर निकालना सही नहीं है.

CAA प्रोटेस्ट: प्रदर्शनों के दौरान देशभर में अब तक कुल 17 लोगों के मौत की खबर

First published: 21 December 2019, 9:48 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी