Home » इंडिया » BJP's fact finding team reaching today in Kairana
 

कैराना पलायन विवाद: आज बीजेपी टीम का दौरा

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 February 2017, 1:49 IST
(फाइल फोटो)

हिन्दुओं के कथित पलायन की पड़ताल करने के लिए बीजेपी की टीम आज उत्तर प्रदेश के कैराना पहुंच रही है. इस टीम में तीन केंद्रीय मंत्री शामिल हैं. बीजेपी सांसद हुकुम सिंह ने कैराना से सटे कांधला से पलायन करने वालों की एक सूची जारी की है.

इस सूची में 63 परिवारों के नाम हैं. हुकुम सिंह का कहना है कि कांधला की जो लिस्ट उन्होंने जारी की है, वह एकदम सही है और वे सभी जान बचाकर भागे हैं. इससे पहले हुकुम सिंह ने कैराना से पलायन करने वाले 346 हिन्दू परिवारों की लिस्ट जारी की थी, जिसमें से कई दावे गलत साबित हुए थे.

बयान से पलटे हुकुम

बाद में अपने पुराने दावे के उलट हुकुम सिंह ने कहा कि उनका इरादा हिन्दू शब्द इस्तेमाल करने का नहीं था और पलायन की वजह सांप्रदायिक नहीं आपराधिक है.

अपने बयान से पलटते हुए हुकुम सिंह ने साफ किया कि यह पूरा मामला सांप्रदायिक नहीं, बल्कि अपराधियों से जुड़ा हुआ है. हुकुम सिंह के मुताबिक यह पूरी तरह से प्रशासनिक विफलता का नतीजा है.

'सांप्रदायिक समस्या नहीं'

पलायन करने वाले लोगों की लिस्ट पर भी बीजेपी सांसद सफाई देते नज़र आए. उन्होंने माना की उनकी लिस्ट में कुछ गड़बड़ी हो सकती है और अगर यह सच साबित होता है तो उन्हें माफ़ी मांगने से भी परहेज नहीं है.

हुकुम सिंह का कहना है कि यह लिस्ट उनके कार्यकर्ताओं ने तैयार की थी और अगर प्रशासन को इसमें कोई गलती लगती है, तो वह अपनी लिस्ट जारी करे. जब तक नई लिस्ट सामने नहीं आ जाती वह अपने 346 लोगों की लिस्ट पर कायम हैं.

साथ ही हुकुम सिंह ने माना था कि कैराना में हिन्दू-मुस्लिम समस्या नहीं है. असल में कैराना में अपराधियों का आतंक है. हुकुम सिंह ने आरोप लगाया कि अफसरों को इलाके में ईमानदारी से काम नहीं करने दिया जाता.

पीएम मोदी की नजर

हुकुम सिंह का आरोप है कि समाजवादी पार्टी की सरकार के नेताओं की बात सुनने वाला ही अधिकारी यहां रहेगा. साथ ही बीजेपी सांसद ने कहा कि प्रशासन ऐसे पीड़ित परिवारों की सूची क्यों नहीं जारी करता.

मंगलवार को बहराइच में केंद्रीय मंत्री श्रीपद नाइक ने कहा कि कैराना मामले पर खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नज़र रख रहे हैं.

First published: 15 June 2016, 9:58 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी