Home » इंडिया » BJP shocked by Shiv Sena in Maharashtra, not want to do coalition before election in Jharkhand
 

महाराष्ट्र में शिवसेना से झटका खा चुकी BJP, झारखंड में चुनाव पूर्व नहीं करना चाहती गठबंधन !

कैच ब्यूरो | Updated on: 17 November 2019, 9:43 IST

महाराष्ट्र में शिवसेना के साथ चुनाव से पहले गठबंधन करने के बाद झटका खा चुकी भारतीय जनता पार्टी अब झारखंड में फूंक-फूंककर कदम रख रही है. इसलिए बीजेपी चुनाव पूर्व गठबंधन नहीं करने की दिशा में जा रही है. दरअसल, आजसू के साथ सीटों के बंटवारे के मसले पर भाजपा बैकफुट पर नहीं आना चाहती.

झारखंड में विधानसभा की कुल 81 सीटे हैं. इसमें से भाजपा अब तक 71 सीटों पर उम्मीदवार उतार चुकी है. मात्र 10 सीटें ही बीजेपी नेे छोड़ी हैं. इसके बाद बीजेपी ने आजसू के पाले में गेंद डाल रखी है. अब अगर आजसू इन सीटों पर अपना रुख साफ नहीं करती है तो भाजपा सभी सीटों पर चुनाव लड़ सकती है.

दरअसल, बीजेपी को लगता है कि चुनाव पूर्व गठबंधन से उसका ज्यादा नुकसान होता है. महाराष्ट्र में भी ऐसा हो चुका है. बीजेपी को शिवसेना से झटका मिल गया. इसलिए बीजेपी को लगता है कि ज्यादा बेहतर है जरूरत के हिसाब से चुनाव बाद गठबंधन करना.

भाजपा के एक पदाधिकारी ने कहा कि चुनाव बाद भी गठबंधन के विकल्प खुले रहते हैं. उन्होंने कहा कि आजसू के साथ जब सीटों पर बात नहीं बन पा रही है तो बेहतर है कि पार्टी अपने दम पर अकेले चुनाव लड़े. इससे ज्यादा सीटें जीतने की संभावनाएं बढ़ेंगी. उन्होंने कहा कि चुनाव पूर्व गठबंधन तब करना मजबूरी होती है, जब पार्टी की हालत खराब हो.

झारखंड में बीजेपी की सहयोगी आजसू 19 सीटें मांग रही है, जबकि पिछली बार बीजेपी ने उसे आठ सीटें दी थीं. इसमें से उसे पांच सीटों पर जीत मिली थी. भाजपा को लग रहा है कि महाराष्ट्र की तरह अगर झारखंड में भी गठबंधन में अधिक सीटों पर समझौता किया तो फिर मुश्किल हो सकती है. जिस तरह नतीजे आने के बाद शिवसेना बीजेपी को आंख दिखा रही है वैसे ही झारखंड में सहयोगी दल आजसू भी आंख दिखा सकती है.

महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव: पहली बार चुनावी मैदान में उतरा ठाकरे परिवार का कोई सदस्य

देवेंद्र फडणवीस ने सीएम पद से दिया इस्तीफा, बोले- ढाई साल सीएम जैसी नहीं हुई थी कोई डील 

First published: 17 November 2019, 9:10 IST
 
अगली कहानी