Home » इंडिया » BJP to launch campaign to make inroads in 52,000 panchayats
 

'ग्राम स्वराज अभियान' के जरिए बीजेपी की नजर दलितों और पिछड़ों पर

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 April 2016, 14:23 IST

2017 में उत्तर प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर 14 अप्रैल अंबेडकर जयंती के दिन भारतीय जनता पार्टी व्यापक अभियान शुरू करने जा रही है.

यूपी बीजेपी प्रवक्ता विजय बहादुर पाठक ने बताया है कि दलित और ओबीसी के बीच पकड़ मजबूत करने की नई रणनीति के तहत पार्टी प्रदेश की 52,000 ग्राम पंचायतों में 'ग्राम स्वराज अभियान' चलाएगी. यह अभियान 14 अप्रैल से शुरू होगा और 24 अप्रैल तक चलेगा.

क्या मौर्या के आने से उत्तर प्रदेश में बीजेपी के सिर मुकुट सज सकेगा?

अभियान के अंतिम दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भाषण देंगे, जिसका सभी 52,000 ग्राम पंचायतों में लाइव ब्रॉडकास्‍ट किया जाएगा.

शुक्रवार को फूलपुर संसदीय सीट से पिछड़ी जाति के सांसद केशव प्रसाद मौर्य को यूपी बीजेपी का अध्यक्ष बनाकर पार्टी ने संकेत दे दिया है कि उनकी नजर पिछड़ों पर है.

उत्तर प्रदेेश बीजेपी अध्यक्ष का थाने-कचहरी से गहरा रिश्ता है

बीजेपी प्रवक्‍ता विजय बहादुर पाठक ने बताया कि एक लिस्‍ट तैयार की जा रही है, जिसमें पार्टी के वरिष्‍ठ नेताओं को शामिल किया गया है. हर नेता को कम से कम 10 ग्राम पंचायतों में जाना होगा. उन्होंने बताया कि अभियान के अंतिम दिन 24 अप्रैल को 'पंचायत दिवस' के तौर पर मनाया जाएगा.

यूपी में 2017 में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं. बीजेपी का यूपी में रिकॉर्ड बहुत अच्छा नहीं रहा है. पार्टी के प्रदेश में 1989 में 57, 1991 के राम मंदिर की लहर में 221, बाबरी मस्जिद विध्वंस के बाद 1993 में 177, 1996 में 174, 2002 में 88, 2007 में 51 और 2012 में 47 विधायक जीते थे.

केशव प्रसाद मौर्य यूपी बीजेपी के नए प्रदेश अध्यक्ष

पिछले लोकसभा चुनाव में पार्टी ने प्रदेश की 80 संसदीय सीटों में से 73 पर जीत हासिल की थी. ऐसे में पार्टी विधानसभा चुनाव में भी अपना दमदार प्रदर्शन दोहराना चाहेगी.

First published: 11 April 2016, 14:23 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी