Home » इंडिया » bjp worn varun gandhi, do not cross the line
 

बीजेपी की वरुण गांधी को चेतावनी, ना लांघें अपनी लक्ष्मण रेखा

कैच ब्यूरो | Updated on: 15 June 2016, 13:34 IST
(पीटीआई)

बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के द्वारा सोमवार को बुलाई गई बैठक में सुल्‍तानपुर के सांसद वरुण गांधी नहीं पहुंचे. इससे पूरी पार्टी सकते में आ गई. पार्टी अध्यक्ष की बैठक में शामिल नहीं होने पर वरुण को चेतावनी दी गई है.

सूत्रों के मुताबिक वरुण को अपनी ‘लक्ष्‍मण रेखा’ में रहने की नसीहत दी गई है. बीते दिनों इलाहाबाद में बीजेपी राष्‍ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में वरुण गांधी के रवैए से पार्टी आलाकमान खुश नहीं है. 

पोस्टर पर पहले से नाराजगी

वरुण गांधी के समर्थकों ने इलाहाबाद को पोस्‍टरों से पाट दिया था. पोस्‍टर्स के जरिए बीजेपी सांसद वरुण गांधी को उत्तर प्रदेश चुनाव में बीजेपी की ओर से बतौर मुख्यमंत्री पद के उम्‍मीदवार के तौर पर प्रचारित करने की कोशिश की गई थी.

इसके अलावा राष्‍ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में हिस्‍सा लेने पहुंचे वरुण गांधी रास्‍ते में रोड शो और दो दर्जन कारों के काफिले के साथ पहुंचे थे. जिससे पार्टी आलाकमान पहले से ही नाराज है. 

सीएम दावेदारी की होड़

यूपी में बीजेपी के नेताओं के बीच मुख्यमंत्री पद के लिए नई होड़ को खतरे के तौर पर देखा जा रहा है. बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य ने उन पार्टी कार्यकर्ताओं को आड़े हाथों लिया था, जिन्‍होंने पार्टी लाइन से अलग जाकर वरुण को सूबे के सीएम प्रत्याशी के तौर पर प्रोजेक्‍ट करने की कोशिश की थी.

लंबे लाव-लश्कर के साथ कार्यकारिणी बैठक में पहुंचने वाले वरुण गांधी को पार्टी ने परोक्ष तौर पर यह संदेश दे दिया है कि पार्टी इस तरह की गतिविधियों को कतई बर्दाश्त नहीं करेगी. 

अनुशासन न तोड़ने की नसीहत

बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष ने कहा, "हमारी पार्टी में केवल एक अनुशासन है. एक लक्ष्‍मण रेखा है, जिसे किसी को भी पार नहीं करना चाहिए." वहीं एक निजी समाचार चैनल से बातचीत में वरुण गांधी ने कहा है कि उन्‍होंने अमित शाह से मीटिंग में न शामिल होने की इजाजत ली थी.

वरुण के मुताबिक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ उनकी मुलाकात हुई थी. इस मुलाकात में बीजेपी के द्वारा कराए गए आंतरिक सर्वे पर चर्चा हुई.

First published: 15 June 2016, 13:34 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी