Home » इंडिया » Blind muslim couple allegedly assaulted and forced to chant jai shree raam
 

बुजुर्ग और अंधे दंपति को मिली मुस्लिम होने की सज़ा, डरा-धमकाकर लगवाए गए जय श्री राम के नारे

कैच ब्यूरो | Updated on: 2 April 2018, 11:57 IST

''मेरी गलती बस इतनी थी की मैं मुसलमान था और मैंने हिन्दू प्रभुत्व क्षेत्र में चला गया.'' अबुल बशर एक 67 साल का अंधा बुजुर्ग जो भीख मांगता है. इंडियन एक्सप्रेस से हुई बातचीत में अबुल बशर ने अपने साथ हुआ ये दर्दनाक हादसा बयान किया.

उन्होंने बताया कि वो और उनकी बीवी जो की 61 साल की है और वो भी अंधी हैं. इन दोनों पर हमला किया गया और जबरदस्ती 'जय श्री राम' और 'जय मां तारा' कहलवाया गया. पश्चिम बंगाल के चिटदंगा क्षेत्र में एक समूह द्वारा ये हमला किया गया. बंगाल हिंसा का एक और घिनौना रूप देखने को मिला जहां उपद्रवियों ने एक अंधे दम्पति तक को नहीं छोड़ा. मुस्लिम दम्पति को मजबूर करके उनसे जय श्री राम कहलवाया गया.

इस घटना का एक वीडियो भी वायरल हुआ जिसमे उन्हें जोर जबरदस्ती करके जय श्री राम कहलवाया जा रहा है. यह तुरंत स्पष्ट नहीं हुआ कि समूह में कोई भी किसी भी हिंदू संगठन का था.
बशर के अनुसार ये मंगलवार की घटना है रानीगंज और आसनसोल में हुई सांप्रदायिक हिंसा के एक दिन पहले. बशर का कहना है कि उन्हें नहीं पता था कि इस तरह का माहौल है,वरना वो भीख मांगने नहीं निकलते.

ये भी पढ़ें- पीएम मोदी के नारे के विरोध में मोहन भागवत, बोले- हमारी ऐसी विचारधारा नहीं

''हम बीरभूम और बर्दवान में विभिन्न स्थानों पर जाते हैं. अंडाल में,कुछ लोग आए और मेरी टोपी छीन ली.उन्होंने कहा कि वे हमें मार देंगे क्योंकि हम मुसलमान हैं और एक हिंदू-प्रधान क्षेत्र में प्रवेश किया है.फिर उन्होंने मुझे और मेरी पत्नी को मारना शुरू कर दिया मेरी पत्नी कई बार उनके सामने गिड़गिड़ाई कि अगर वे हमें जाने दें तो हम इस क्षेत्र में कभी नहीं आएंगे. पर उन्होंने हमारी नहीं सुनी.

ये भी पढ़ें- सूरत हिंसा: तलवार लेकर मस्जिद में घुस गए थे भगवाधारी, गिर गई थी मस्जिद की दीवार!

मैंने उनसे कहा था कि हम दोनों ही अंधे हैं और हम वहां भीख मांगते के लिए जाते थे और किसी परेशानी का कारण नहीं बनते. हमे जाने देने के बजाय उन्होंने हमे जय श्री राम कहने पर मजबूर किया. मैंने उनसे कहा कि अल्लाह और भगवान् एक है सबको धर्म अपनाने की स्वतन्त्रता है. मैंने उनसे पूछा भी की वो हमे क्यों मजबूर कर रहे हैं, फिर मैंने हमारी जान के डर से उनका कहना मान लिया''. बशर ने इंडियन एक्सप्रेस को फ़ोन पर ये बात बताई.

First published: 2 April 2018, 11:49 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी