Home » इंडिया » Bombay high court: why sadhvi Pragya in prison?
 

बॉम्बे हाईकोर्ट: जब कोई केस नहीं बनता तो साध्वी प्रज्ञा जेल में क्यों हैं?

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 February 2017, 5:46 IST
(एजेंसी)

बंबई हाईकोर्ट ने साल 2008 के मालेगांव बम धमाके में गिरफ्तार साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर की जमानत याचिका पर सुनवाई करते हुए सरकारी वकील से पूछा कि जब अभियोजन एजेंसी कह चुकी है कि जांच के बाद साध्वी के खिलाफ कोई मामला नहीं है तो उन्हें जेल में कैसे रखा जा सकता है.

साध्वी प्रज्ञा ने हाईकोर्ट से अनुरोध किया है क्योंकि विशेष मकोका अदालत ने 28 जून को उन्हें जमानत देने से इनकार किया था.

इस मामले में बंबई हाईकोर्ट के जस्टिस एनएच पाटिल और जस्टिस पीडी नाइक की खंडपीठ ने एनआईए से इस मामले से जुड़े सभी पिछले आदेशों तथा फैसलों को एक साथ सौंपने का आदेश दिया है.

गौरतलब है कि साध्वी प्रज्ञा को एनआईए ने मालेगांव बम धमाके के केस में इसी साल क्लीन चिट दी थी लेकिन निचली अदालत ने उन्हें जमानत देने से इनकार किया था.

उनकी याचिका में कहा गया कि निचली अदालत परिस्थितियों में बदलाव पर विचार करने में नाकाम रही.

First published: 15 October 2016, 9:52 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी