Home » इंडिया » Border dispute may end soon in Ladakh, consensus on disengagement- report
 

लद्दाख में जल्द समाप्त हो सकता है भारत-चीन सीमा विवाद, डिस-एंगेजमेंट पर बनी सहमति- रिपोर्ट

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 November 2020, 14:36 IST

भारत-चीन (India-China) के बीच सीमा संघर्ष जल्द समाप्त हो सकता है. एक रिपोर्ट के अनुसार दोनों देशों की सेनाओं के बीच लद्दाख सेक्टर (ladakh) के कुछ हिस्सों से डिस एंगेजमेंट पर सहमति बन गई है. एएनआई समाचार एजेंसी के अनुसार समझौते की शर्तों के तहत दोनों पक्षों के सैनिक इस साल अप्रैल-मई से पहले अपने कब्जे वाले स्थानों पर वापस चले जाएंगे. हालांकि भारतीय सेना ने अभी रिपोर्ट की तत्काल पुष्टि नहीं की है लेकिन यह रिपोर्ट सही साबित होती है, तो इसका मतलब भारत के लिए एक बड़ी जीत होगी.

एएनआई के अनुसार 6 नवंबर को चुशुल में बैठक के दौरान दोनों देशों के शीर्ष सैन्य कमांडरों के बीच डिस एंगेजमेंट योजना पर चर्चा की गई थी. मामले से परिचित एक व्यक्ति ने पुष्टि की कि चीनी पक्ष से बैठक में कुछ प्रस्ताव प्राप्त हुए थे, लेकिन इस बारे में विस्तृत जानकारी नहीं थी. पेंगोंग लेक क्षेत्र में वार्ता से एक सप्ताह में तीन चरणों में की जाने वाली डिस एंगेजमेंट योजना के अनुसार टैंकों और बख्तरबंद कर्मियों की तैनाती से वापस ले जाना था. एक दिन के भीतर टैंक और बख्तरबंद कार्मिकों के डिस एंगेजमेंट को अंजाम दिया जाना था.


पैंगोंग झील पर उत्तरी बैंक के पास किए जाने वाले दूसरे चरण में दोनों पक्षों को तीन दिनों के लिए हर दिन लगभग 30 फीसदी सैनिकों को वापस लेना था. तीसरे और आखिरी चरण में दोनों पक्ष दक्षिणी तट पर पैंगोंग झील क्षेत्र के साथ सीमा रेखा से अपने-अपने स्थान से हटेंगे, जिसमें चुशुल और रेजांग ला क्षेत्र के आसपास की ऊंचाई और क्षेत्र शामिल हैं. भारत ने अगस्त में पैंगोंग त्सो झील के दक्षिणी किनारे पर पांच पहाड़ों की ऊंचाई पर स्थित कमांडिंग पोजीशन ले ली थी.

भारतीय पक्ष इस मुद्दे पर बहुत सावधानी से आगे बढ़ रहा है क्योंकि इस साल जून में गैलवान घाटी में संघर्ष के बाद चीन से भरोसा उठ गया है. इस संघर्ष में 20 भारतीय सैनिकों ने अपनी जान गंवाई थी जबकि कई चीनी सेना के जवान मारे गए थे.

Coronavirus Vaccine: वैक्सीन बेचने के लिए फाइजर ने भारत सरकार से शुरू की बातचीत- रिपोर्ट

First published: 11 November 2020, 14:27 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी