Home » इंडिया » BrahMos supersonic cruise missile successfully flight tested in rajasthan Pokharan
 

ब्रह्मोस सुपरसोनिक मिसाइल का हुआ सफल परिक्षण, पोखरण से 'दुश्मन' को दी चेतावनी

कैच ब्यूरो | Updated on: 22 March 2018, 13:15 IST

राजस्थान के पोखरण में सुपरसोनिक ब्रह्रोस मिसाइल का परीक्षण सफल रहा है. गुरुवार की सुबह राजस्थान के पोखरण से इस मिसाइल को टेस्ट किया गया. मिसाइल सफलता से अपने लक्ष्य तक पहुंची.

मिसाइल के सफल परीक्षण के बाद रक्षा मंत्री ने इसे लेकर डीआरडीओ को बधाई दी है. उन्होंने ट्वीट कर कहा, 'मैं इसके लिए डीआरडीओ, सशस्त्र बलों और रक्षा उद्योग को बधाई देती हूं. यह सफल परीक्षण हमारी राष्ट्रीय सुरक्षा को और अधिक मजबूत करेगा.''

 

 

 

गौरतलब है कि ब्रह्मोस का निर्माण रूस की मदद से किया गया है. भारत की रक्षा प्रणाली में इसकी अहम भूमिका है. 2016 में भारत मिसाइल टेक्नोलॉजी कंट्रोल रिजीम (एमटीसीआर) का हिस्सा बना और इसके बाद रूस के सहयोग से इसका निर्माण किया गया.

दो नदियों के नाम पर रखा गया इस मिसाइल का नाम

इस मिसाइल का नाम भारत की ब्रह्मपुत्र नदी और रूस की मस्कवा नदी पर रखा गया है. ब्रह्मोस का पहला सफल परीक्षण 12 जून, 2001 को हुआ था.

 

 

क्या है इस मिसाइल की खासियत

ब्रह्मोस की रफ्तार 2.8 मैक (ध्वनि की रफ्तार के बराबर) है. इस मिसाइल की रेंज 290 किलोमीटर है. यह 300 किलोग्राम भारी युद्धक सामग्री ले जा सकती है. हाल में आई खबरों के मुताबिक ब्रह्मोस जैसी क्षमता वाली मिसाइल अभी तक चीन और पाकिस्‍तान ने विकसित नहीं की है.

ये भी पढ़ें- Google Play Instant: अब बिना फोन पर डाउनलोड-इंस्टॉलेशन किए खेलें गेेम्स

First published: 22 March 2018, 13:09 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी