Home » इंडिया » Brics summit: pakistan is a mother ship of terrorism
 

ब्रिक्स सम्मलेन: मोदी ने पाकिस्तान को आतंक की 'मदर-शिप' बताया

कैच ब्यूरो | Updated on: 16 October 2016, 15:55 IST
(एजेंसी)

गोवा में आयोजित आठवें ब्रिक्स शिखर सम्मलेन 2016 में विभिन्न राष्ट्राध्यक्षों को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आतंकवाद के मुद्दे पर पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान को जमकर लताड़ लगाई है.

पीएम मोदी ने कहा, "हमारा पड़ोसी आतंकवाद की जन्मभूमि है. दुनिया भर के आतंकवाद के मॉड्यूल इसी देश से जुड़े हैं. वह आतंकियों को पनाह देता है और आतंकवाद की सोच को भी बढ़ावा देता है." इस मौके पर मोदी ने पाकिस्तान को आतंक की 'मदर-शिप' बताया.

पीएम ने आगे कहा, "हमारी आर्थिक खुशहाली के लिए प्रत्यक्ष खतरा आतंकवाद से है और वह आतंकवाद भारत के पड़ोस में फलफूल रहा है. ब्रिक्स को इस खतरे के खिलाफ एक सुर में बोलना चाहिए. हमारा पड़ोसी देश न केवल आतंकवादियों को पनाह देता है बल्कि ऐसी मानसिकता को परवान चढ़ाता है जो दावा करती है कि राजनीतिक लाभ के लिए आतंकवाद उचित है."

पीएम ने यह बात चीन के राष्ट्रपति के सामने कही. वही चीन भारत के एनएसजी की सदस्यता का विरोध कर रहा है. इसके अलाव चीन ने यूएन में जैश-ए-मोहम्मद चीफ मसूद अजहर को आतंकी घोषित करने का विरोध किया था.

आतंकी मसूद अजहर को 1999 में तत्कालीन एनडीए सरकार ने समय उस समय रिहा किया था, जब आतंकियों द्वारा काठमांडू से इंडियन एअर लाइंस के प्लेन को हाईजैक करके कंधार ले जाया गया था.

गौरतलब है कि ब्रिक्स, दुनिया के पांच प्रमुख देशों का एक ऐसा समूह है, जिसमें ब्राजील, रूस, भारत, चीन और दक्षिण अफ्रीका शामिल हैं. समूह के पांच देशों का दुनिया की आबादी में 43 फीसदी हिस्सा है.

First published: 16 October 2016, 15:55 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी