Home » इंडिया » british foreign minister comment over emmanuel macron india visit
 

भारतीय छात्रों को लुभाने के चक्कर में भिड़े फ्रांसीसी राष्ट्रपति मैक्रों और ब्रिटिश विदेश मंत्री

कैच ब्यूरो | Updated on: 13 March 2018, 10:28 IST

फ्रांस और ब्रिटेन दोनों ही देश भारतीय छात्रों को लुभाने में जुटे हैं. इसी कोशिश में फ्रांसीसी राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों और ब्रिटिश विदेश मंत्री बोरिस जॉनसन की सोशल मीडिया पर भिडंत हो गई.

दरअसल, फ्रांसीसी राष्ट्रपति मैक्रों ने शनिवार को नई दिल्ली में अपने संबोधन के दौरान फ्रांस को भारतीय छात्रों के लिए यूरोप के नए प्रवेशद्वार के तौर पर पेश किया था. मैक्रों ने ट्वीट कर कहा था, "हम फ्रांस और भारत के बीच नई शुरुआत कर रहे हैं.. मैं फ्रांस आने वाले भारतीय छात्रों की संख्या दोगुनी करना चाहता हूं. अगर आप फ्रांस का चुनाव करेंगे तो इससे फ्रेंकोफोनी के साथ-साथ यूरोप तक भी आपकी पहुंच होगी."

 

मैक्रों के इस ट्वीट के बाद ब्रिटेन के विदेश मंत्री बोरिस जॉनसन ने ट्वीट किया, "2017 में ब्रिटेन में 14 हजार से ज्यादा भारतीय छात्रों के आने और दुनिया के 10 सर्वश्रेष्ठ विश्वविद्यालयों में हमारे चार विश्वविद्यालयों को चुनने पर हमें गर्व है. पिछले साल की अपेक्षा यह संख्या अधिक है. एजुकेशन इज ग्रेट इन इंग्लिश."

बता दें एमैनुएल मैक्रों तीन दिवसीय भारत के दौरे पर थे. इस दौरान उन्होंने दुनिया के सात अजूबों में शुमार ताजमहल का दीदार किया. इसके अलावा उन्होंने पीएम नरेंद्र मोदी के साथ वाराणसी की यात्रा की और गंगा नदी पर नौका विहार भी किया. वह अपनी पत्नी के साथ भारत दौरे पर आए हैं.

पढ़ेंं- फ्रांसीसी 'दोस्त' संग वाराणसी में नौका विहार करेंगे पीएम मोदी, देंगे सोलर पार्क की सौगात

First published: 13 March 2018, 10:27 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी