Home » इंडिया » Broken record of 1901, first time colder than december january
 

1901 का टूटा रिकॉर्ड, पहली बार दिसंबर, जनवरी से ज्यादा सर्द

कैच ब्यूरो | Updated on: 30 December 2019, 18:36 IST

भारत के उत्तर-पश्चिमी और मध्य भागों में पारा लगातार गिर रहा है. राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में 1901 के बाद सबसे ठंडा दिन दर्ज किया गया. आज सफदरजंग मौसम विज्ञान स्टेशन पर अधिकतम तापमान 9.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. पूरे दिल्ली में कोहरे की एक मोटी चादर छाई रही. कोहरे के कारण परिवहन सेवाएं प्रभावित हुई क्योंकि कई जगह विजिबिलटी बेहद कम हो गई.

एक रिपोर्ट के अनुसार नई दिल्ली के रीजनल वेदर फोरकास्टिंग सेंटर के प्रमुख कुलदीप श्रीवास्तव ने कहा "1901 के बाद से यह दिसंबर दूसरा सबसे ठंडा दिसंबर है. आमतौर पर जनवरी सबसे ठंडा महीना होता है, लेकिन इस बार दिसंबर में ही पारा दशकों का रिकॉर्ड तोड़ चुका है."

देशभर में न्यूनतम तापमान 26 दिसंबर से काफी गिर गया है, जिससे राजस्थान, पंजाब, दिल्ली, हरियाणा और पश्चिम उत्तर प्रदेश और उत्तर मध्य प्रदेश में गंभीर शीत लहर की स्थिति पैदा हो गई है. घने कोहरे के कारण सोमवार को दिल्ली आने वाली 23 ट्रेनें देरी से चलीं. रिपोर्ट के अनुसार नई दिल्ली के इंदिरा गांधी अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डे के एक अधिकारी ने कहा कि घने कोहरे के कारण हवाई सेवाएं भी बाधित हो गईं हैं.

अपने नवीनतम पूर्वानुमान में भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) अगले चार दिनों में जम्मू-कश्मीर, उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश में बारिश / बर्फबारी के नए दौर की उम्मीद कर रहा है. जबकि पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़ और दिल्ली में बारिश के कारण छिटपुट बारिश हो रही है. पश्चिमी विक्षोभ जिसने पश्चिमी हिमालयी क्षेत्र को प्रभावित किया है.

मौसम विभाग के पूर्वानुमान के अनुसार “नए साल के दौरान अगले दो दिनों में दिल्ली सहित क्षेत्र में अलग-अलग स्थानों पर ओलावृष्टि और बिजली गिर सकती है. हालांकि कोहरे की तीव्रता में भी कमी आ सकती है, लेकिन बढ़ी हुई नमी 4 जनवरी के बाद धुंधली स्थिति पैदा कर सकती है.

 कोहरे ने जीरो कर दी विजिबिलिटी, IGI एयरपोर्ट से 16 उड़ानें डाइवर्ट, कई रद्द, रेल भी प्रभावित

First published: 30 December 2019, 18:36 IST
 
अगली कहानी