Home » इंडिया » BS Yeddyurappa Faces Revolt in Karnataka BJP
 

कर्नाटक बीजेपी में बगावत के संकेत!

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 February 2017, 1:49 IST

कनार्टक में भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष बीएस येदियुरप्पा के खिलाफ अंसतोष उभर रहा है. हाल में ही येदियुरप्पा ने पार्टी पदाधिकारियों और जिला अध्यक्षों की नियुक्ति की है. बीजेपी के वरिष्ठ नेता और राज्य के पूर्व उप मुख्यमंत्री केएस ईश्वरप्पा ने इन नियुक्तियों की खुलेआम आलोचना की है और येदियुरप्पा पर मनमानी करने का आरोप लगाया है.

विधानपरिषद में विपक्ष के नेता ईश्वरप्पा ने कहा, ‘‘ये नियुक्तियां पार्टी की कोर समिति की बैठक में नामों पर चर्चा किये बिना की गई. यह गलत है. मैं नियुक्ति को लेकर पार्टी के वरिष्ठ नेताओं से सामने सवाल उठाऊंगा."

मंगलवार को ईश्वरप्पा ने राज्य के विभिन्न नेताओं के साथ एक बैठक की जिसमें बीजेपी के 14 विधायक भी शामिल थे. इन लोगों का आरोप है कि येदियुरप्पा संगठनों से जुड़े लोगों को छोड़कर उन लोगों को प्राथमिकता दे रहे हैं जो कर्नाटक जनता पार्टी में उनके साथ रह चुके हैं.

भ्रष्टाचार के आरोप में कर्नाटक के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने वाले बीजेपी उपाध्यक्ष बीएस येदियुरप्पा को इसी साल अप्रैल महीने में कर्नाटक बीजेपी का नया अध्यक्ष चुना गया.

दक्षिण भारत में पहली बार कमल खिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले येदियुरप्पा ने 2012 में बीजेपी छोड़ दी थी. लोकसभा चुनाव से ठीक पहले बीजेपी में उनकी वापसी हुई थी. 73 वर्षीय येदियुरप्पा कर्नाटक के शिमोगा सीट से सांसद हैं. येदियुरप्पा पीएम मोदी और बीजेपी अध्यक्ष शाह के करीबी माने जाते हैं. अमित शाह की नई टीम में उन्हें बीजेपी उपाध्यक्ष भी बनाया गया है.

2012 में बीजेपी छोड़ने के बाद उन्होंने कर्नाटक जनता पार्टी (केजीपी) का गठन किया था. मई, 2013 में हुए कर्नाटक विधानसभा चुनाव में केजीपी को दस फीसदी वोट और छह सीटें मिली थी. बीजेपी इस चुनाव में बुरी तरह हारकर कर्नाटक की सत्ता से बाहर हो गई.

First published: 29 June 2016, 2:53 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी